ईवीएम घोटालाः UP चुनाव के बाद MP पहुंची थी BJP का कमल उगलने वाली EVM

ईवीएम घोटालाः UP चुनाव के बाद MP पहुंची थी BJP का कमल उगलने वाली EVM

नई दिल्ली। मप्र के भिंड जिले में स्थित अटेर विधानसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान डेमो में जिस ईवीएम मशीन में 3 में से 2 वोट भाजपा को गए, वो मशीन कानपुर यूपी से यहां आई है। यह खुलासा भिंड कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी इलैया राजा टी ने किया था। इसी के बाद चुनाव आयोग ने कलेक्टर/एसपी को हटा दिया।

 

कलेक्टर का कहना है मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के बटन दबाने पर भी जो पर्ची निकली उसमें प्रत्याशी का नाम दूसरा था। हालांकि मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह के डेमो में कमल के फूल की पर्ची आने के बाद निर्वाचन कार्य में लगे अधिकारी-कर्मचारियों की सांसें फूली हुई हैं।

 

नाम न छापने की शर्त पर निर्वाचन कार्य में लगे वरिष्ठ अधिकारी ने बताया वीवीपेट की एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) की जा रही है। शुक्रवार को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सलीना सिंह आई तो जल्दबाजी में ऐसी ईवीएम और वीवीपेट आ गईं, जिनकी क्लियरिंग नहीं हो पाई थी, जबकि ऐसी ईवीएम और वीवीपेट पर डेमो होना चाहिए था जिसमें डमी प्रत्याशियों के नाम और चुनाव चिन्ह की फीडिंग होती।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: Politics