आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के हाथों सम्‍मान लेने से मना नहीं कर सके आम‍िर खान, 16 साल बाद किसी अवॉर्ड फंक्शन में पहुंचे

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के हाथों सम्‍मान लेने से मना नहीं कर सके आम‍िर खान, 16 साल बाद किसी अवॉर्ड फंक्शन में पहुंचे

कभी असहिष्णुता पर बयान देने के बाद विवादों में रहे वॉलीवुड एक्टर आमिर खान ने नहीं सोचा होगा कि कभी ऐसा दिन भी आएगा। बयान के बाद विरोध झेलने वाले आमिर खान को सोमवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया है। हालांकि इस समारोह की सबसे आकर्षित करने वाली बात यह भी रही कि अवॉर्ड समारोह से दूर रहने वाले 53 साल के आमिर खान खुद इस अवॉर्ड को लेने आए थे। अवॉर्ड फंक्शन में आमिर को देख कई लोग हैरान रह गए।

आमिर को 75वें दीनानाथ मंगेश्कर अवॉर्ड सेरेमनी में विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। आमिर को यह पुरस्कार उनकी फिल्म दंगल के लिए दिया गया। दंगल साल 2016 की सबसे बड़ी फिल्मों में से एक रही थी। बता दें कि आमिर खान ने साल 2015 में कहा था कि देश में असहिष्णुता बढ़ रही है। इस बयान के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने उनकी फिल्म का बहिष्कार किया और कुछ ने तो उन्हें पाकिस्तान चले जाने के कह दिया था।

दंगल फिल्म हरियाणा के एक कुश्ती खिलाड़ी महावीर सिंह फोगाट और उनकी बेटी गीता व बबीता फोगाट के संघर्ष की कहानी है। फिल्म कुश्ती पर आधारित है, जिसमें दिखाया गया है कि किस तरह हरियाणा में रहने वाली दो लड़कियां कुश्ती जैसे खेल में अपना नाम कमाती हैं। पुरस्कार मिलने के बाद आमिर खान ने अपनी फिल्मों के लेखकों और डायरेक्टरों का धन्यवाद किया। आमिर ने कहा, “आज मैं जहां भी हूं, उसका क्रेडिट उन लेखकों को जाता है जिन्होंने मेरी फिल्म की कहानी लिखी। मैं यहां उन निर्देशकों की वजह से हूं जिन्होंने शानदार काम किया। उन सभी का धन्यवाद। ”

बता दें कि दीनानाथ मंगेशकर पुरस्कार भारतरत्न लता मंगेशकर के परिवार द्वारा संचालित किए जाते हैं। इस साल आमिर खान को उनकी फिल्म ‘दंगल’ के लिए चुना गया था। वहीं दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव को क्रिकेट जगत में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए इस विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

Courtesy:Jansatta 

Categories: Entertainment

Related Articles