योगी हेयर स्टाइल’ अनिवार्य करने पर मेरठ के स्कूल में भड़के अभिभावक

योगी हेयर स्टाइल’ अनिवार्य करने पर मेरठ के स्कूल में भड़के अभिभावक

मेरठ  स्कूल में अनुशासन सख्त करने के नाम पर सीएम योगी आदित्यनाथ जैसे बाल रखने की नसीहत देने की बात पर मेरठ के स्कूल में कल जमकर हंगामा हुआ। कुछ अभिभावक इसके समर्थन में थे जबकि कुछ ने इसको स्कूल की लाल फीताशाही बताया। स्कूल में बच्चों को खास तरीके से बाल कटाने को कहा जा रहा है, अभिभावक इस बात से नाराज थे।

छेड़छाड़ के मुददे पर प्रदेश सरकार के सख्त रुख और एंटी रोमियो अभियान को मिले भारी जनसमर्थन के बाद अब मेरठ में स्कूल प्रबंधन भी अनुशासन के मामले में सख्त होने लगे हैं। छात्रों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे बाल रखने की नसीहत व नानवेज खाना लाने पर रोक के विरोध में ऋषभ एकेडमी में छात्रों और अभिभावकों ने हंगामा खड़ा कर दिया।

एक वर्ग विशेष के अभिभावकों ने इसे तानाशाही और स्कूल को भाजपाई रंग में रंगने की कोशिश बताते हुए कहा कि टिफिन में मनपसंद खाना लाने से भी रोका जा रहा है। हालांकि अधिकांश अभिभावक स्कूल के कदम को सही ठहरा रहे हैं।

इन अभिभावकों ने आरोप लगाया कि प्रबंधन वर्ग विशेष के बच्चों को निशाना बनाते हुए दाखिला नहीं देना चाहता। इसी वजह से प्रतिबंध के ऐसे हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। मामला तूल पकडऩे पर डीएम समीर वर्मा ने जिला विद्यालय निरीक्षक से रिपोर्ट मांगी है।

प्रबंधन के मुताबिक स्कूल ने बेहतर माहौल और अनुशासन बनाये रखने के लिए पिछले सत्र से ही कुछ सख्त कदम उठाए थे। इनमें सबसे अहम फैसला बालिकाओं की शिकायत पर सबसे पहले छात्र-छात्रओं के सेक्शन को अलग करना रहा। इसके बाद छात्रों के लंबे बाल रखने, टिफिन में नॉनवेज लाने पर पाबंदी लगा दी गई। बाद में प्रबंधन ने फीस न देने वाले, स्कूल और स्कूल के बाहर आये दिन लड़ाई करने वाले, अधिक अनुपस्थित रहने वाले छात्रों को नोटिस जारी कर सुधरने की हिदायत दी थी। तब भी प्रबंधन के इन कदमों का कुछ लोगों और छात्रों ने विरोध किया था।

सख्ती पर मिल चुकी है धमकी

प्रबंध समिति सचिव रंजीत जैन का कहना है कि अनुशासन समिति के शिक्षकों को करीब 40 नकाबपोश छात्रों ने दो महीने पहले जान से मारने की धमकी दी थी। पर हमने छात्रों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए आंतरिक चेतावनी देने के बाद इन्हें माफ कर दिया था। अब लंबे बाल और नॉनवेज पर रोक लगाने पर मुझे धमकी दी जा रही है। इसकी शिकायत डीएम व एसएसपी से भी करूंगा। छात्रों की हरकतें सीसीटीवी कैमरे में कैद हैं। अब इनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

नसीहत पर हंगामा है तो समर्थन भी

स्कूल के इस कदम का अधिकतर अभिभावक समर्थन कर रहे हैं। अजय जैन चावल वाले, राजीव वर्मा, अशोक कुमार वर्मा आदि का कहना है कि स्कूल यदि कड़ाई नहीं करेगा तो बच्चों में अनुशासन नहीं आएगा। लड़कियों की सुरक्षा के साथ ही हमारी चिंता लड़कों को लेकर भी रहती है कि कहीं वे गलत संगत में न पड़ें। स्कूल प्रबंधन ने इन बिंदुओं को पीटीएम में भी रखा था। हंगामा केवल मुठ्ठी भर वही लोग कर रहे हैं जो कभी भी पीटीएम में नहीं पहुंचते।

नहीं चलने दूंगा लव जिहाद

प्रबंध समिति सचिव, रंजीत जैन ने कहा कि जिन छात्रों को स्कूल में रहना है, उन्हें नियमों का कड़ाई से पालन करना होगा। जो नहीं कर सकते वे टीसी कटा सकते हैं। टिफिन में नॉनवेज लाने की अनुमति नहीं मिलेगी। छात्रों को अभी से दाढ़ी रखने की भी कोई जरूरत नहीं है। कलावा बांधे कई छात्र नाम बदलकर बालिकाओं को रिझाने में लगे रहते हैं। हम लव जिहाद जैसी गतिविधियों को कतई नहीं बढऩे देंगे। सीएम से बात हो गयी है, 29 अप्रैल को उनसे मुलाकात करूंगा।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics