बीजेपी शासित मणिपुर में दो नाबालिग छात्राओं से गैंगरेप, शहर के लोगों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

बीजेपी शासित मणिपुर में दो नाबालिग छात्राओं से गैंगरेप, शहर के लोगों ने सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

मणिपुर। वैसे तो आपने दिल्ली की हल्की बारिश को भी टीवी के प्राइम टाईम में देखा होगा लेकिन वहीं दुर्भाग्यवश नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में आए बाढ़ की खबरों से मीडिया अंजान बनी रहती है।

 

भारत की दिल्ली केंद्रीत मीडिया को नॉर्थ ईस्ट की खबरों से कोई मतलब नहीं होता। जब तक नॉर्थ ईस्ट के किसी राज्य में कोई बहुत बड़ी घटना नहीं होती तब तक टीवी के टिकर पर भी वहां की खबर को जगह नहीं मिलती।

 

बीजेपी शासित मणिपुर की राजधानी इम्फाल में दो स्कूली छात्राओं के साथ सात बदमाश युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। इस दर्दनाक घटना के बाद पूरे शहर में तनाव का माहौल है।

 

‘दी वायर’ की खबर के मुताबिक, जिन सात आरोपियों ने छात्राओं का रेप किया है उनमें से 6 नाबालिग हैं। स्थानीय ख़बरों के अनुसार ये दोनों लड़कियां अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बाइक से पूर्वी इंफाल के खुराई इलाके में मेईतेई नववर्ष पर होने वाले एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रही थीं।

 

 

आरोपी युवक बाइक और कार में सवार थे। वहां से उन्होंने इन चारों लड़के-लड़कियों का अपहरण किया गया और उन्हें करीब सात किलोमीटर दूर एक पहाड़ी पर ले जाया गया, जहां आरोपियों ने लड़कों के साथ मारपीट और लड़कियों के साथ दुष्कर्म किया।

 

इस घटना के एक दिन बाद 17 अप्रैल को इम्फाल के एक एनजीओ विमेन एक्शन फॉर डेवलपमेंट की प्राथमिकी पर पुलिस ने इन सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जहां इनमें से एक पुलिस रिमांड पर हैं, बाकी छह नाबालिगों को कोर्ट द्वारा किशोर सुधार गृह भेज दिया गया है।

 

 

महिला सामाजिक कार्यकर्ताओं ने प्रशासन से बोन-डेंसिटी टेस्ट के जरिये इन नाबालिगों आरोपियों की उम्र की जांच करवाने का अनुरोध किया है। वहीं 22 साल के इकलौते बालिग आरोपी को 25 अप्रैल को सेशन कोर्ट में पेश किया गया था, जहां उसने ज़मानत की अर्ज़ी दी थी, जिसे ख़ारिज कर दिया गया। कोर्ट ले जाते समय उस पर महिलाओं के समूह ने हमला करने का प्रयास भी किया।

Courtesy: .nationaldastak.

Categories: India