ISRO ने देसी संसाधनों से तैयार की सोलर कार

ISRO ने देसी संसाधनों से तैयार की सोलर कार

मुंबई
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने हाल ही एक सोलर हाइब्रिड इलेक्ट्रिक कार तैयार की है। देसी संसाधनों का इस्तेमाल कर डिजाइन की गई इस कार का प्रदर्शन तिरुवनंतपुरम के विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र में किया गया। इसरो ने सोमवार को इस इन्वाइरनमेंट फ्रेंडली कार की घोषणा की।

विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र में कई तरह के रॉकेट जैसे पोलर सैटलाइट लॉन्च वीइकल और रीयूजबल लॉन्च वीइकल बनाए जाते हैं। इस ग्रीन फ्रेंडली वीइकल का प्रदर्शन मार्च के आखिरी सप्ताह में किया गया था। इसरो अब इसकी लागत में कटौती करने पर काम कर रहा है।

इसरो का कहना है कि फ्यूल से चलने वाली गाड़ियों से पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है। एक आदर्श परिवहन व्यवस्था को किसी भी प्रदूषण के बिना शून्य उत्सर्जन की कल्पना करनी चाहिए।

 इस कार में हाई एनर्जी लिथियम बैटरी लगाई गई है जिसे सूरज की रोशनी से चार्ज किया जा सकता है। वीइकल बनाने की मुख्य चुनौतियों में कार के शीर्ष पर एक सौर पैनल तैयार करना और बैटरी और सौर पैनल इंटरफेस के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स को नियंत्रित करना शामिल है, जिसे कार को आसानी से चलाने के लिए ‘ड्राइव इलेक्ट्रॉनिक’ के रूप में जाना जाता है।
Courtesy: NBT
Categories: India

Related Articles