समाजवादी पार्टी में बड़ी फूट, 15 जून को शिवपाल बनाएंगे नई पार्टी!

समाजवादी पार्टी में बड़ी फूट, 15 जून को शिवपाल बनाएंगे नई पार्टी!

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में वर्चस्व की जंग तीखी होती दिख रही है। एक तरफ अखिलेश और रामगोपाल यादव हैं जो शिवपाल खेमे पर हमला कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ शिवपाल लगातार अखिलेश को उनके द्वारा किए गए वादे को याद दिला रहे हैं।

 

आज शिवपाल यादव ने इटावा में चचेरे भाई रामगोपाल यादव पर हमला बोला और उन्हें शकुनि तक कह डाला। मामला यह है कि दो दिन पहले रामगोपाल यादव से इटावा में ही मीडिया ने जब पूछा कि शिवपाल यादव का कहना है कि अखिलेश यादव को अपने वादे के मुताबिक अब नेताजी को राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद दे देना चाहिए।

 

इस पर भड़क कर रामगोपाल ने जवाब दिया कि शिवपाल यादव बेकार की बातें करते हैं। उन्होंने पार्टी का संविधान नहीं पढ़ा है। पार्टी का सदस्यता अभियान चल रहा है। शिवपाल तो अभी सदस्य तक भी नहीं बने हैं।

 

 

आज शिवपाल यादव ने अखिलेश और रामगोपाल यादव को आड़े हाथों लेते हुए की ऐसे जुबानी तीर छोड़े हैं जिससे पार्टी में एक बार फिर बड़ी फूट से संकेत मिल रहे हैं।

 

 

 

शिवपाल यादव ने 15 जून को सेक्युलर पार्टी बनाने की बात कही है। इटावा सिंचाई विभाग के डाक बंगले में पूर्व केबिनेट मंत्री और जसवंतनगर विधायक शिवपाल सिंह ने कहा कि हमने पार्टी का संविधान पढ़ा हो या न पढ़ा हो लेकिन पार्टी के जो शकुनि और कथित संविधान रचियता हैं।

 

 

 

उन्होंने चुनाव में टिकट बांटे जिससे हमारी सीटें 47 पर ही रह गयी और पूर्व सीएम से मेरा कहना है कि वो नेताजी को राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद दें, पार्टी नेताजी ने बनायीं है, हमने संविधान पढ़ा हो या न पढ़ा हो लेकिन शकुनि ने जरूर पढ़ा है हमने गीता पढ़ी है, अब शकुनि भी गीता पढ़ें।

 

 

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, हमने सेक्युलर पार्टी बनाने के लिए 3 महीने का समय दिया है पूर्व सीएम को मेरा कहना है की पूर्व में किया गया वादा निभाएं और राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद नेताजी को सौंपे। अगर ऐसा नहीं हुआ तो 15 जून तक सेक्युलर पार्टी बना लेंगे।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: Politics

Related Articles