सब्बीरपुर में दलितों पर हमले के विरोध में फिर जल उठा सहारनपुर

सब्बीरपुर में दलितों पर हमले के विरोध में फिर जल उठा सहारनपुर

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में शब्बीरपुर हिंसा मामले को लेकर उचित कार्रवाई न होने पर दलित समुदाय भड़का हुआ है। मंगलवार दोपहर गांधी पार्क में इकट्ठा हुए भीम सेना के कार्यकर्ताओं को बिना अनुमति प्रदर्शन करने की बात कहकर खदेड़े जाने के बाद सहारनपुर फिर से सुलग उठा। पार्क में बवाल के बाद शहर में भीड़ हिंसा पर उतारू हो गई। देखते ही देखते दर्जनों वाहनों में आग लगा दी गई।
शब्बीरपुर में महाराणा प्रताप जयंती जुलूस के दौरान भड़की हिंसा के विरोध में प्रदर्शन करने और पीड़ित दलितों को मुआवजा देने की मांग को लेकर भीम सेना के आह्वान पर मंगलवार को लोग गांधी पार्क में एकत्र होने लगे। सूचना मिलने पर एसपी सिटी संजय सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल पार्क में पहुंचा और भीड़ को खदेड़ दिया। भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया। इस पर पुलिस ने घेरकर कुछ लोगों की पिटाई की जिससे पार्क में भगदड़ मच गई। ठाकुर समुदाय के लोगों ने दलितों के करीब 60 घरों में आग लगा दी थी तथा तोड़फोड़ की थी। इसी घटना को लेकर यहां तनाव बढ़ रहा है।

 
लोग अपने वाहन छोड़कर भाग खड़े हुए। पुलिस ने दर्जनों वाहनों को कब्जे में ले लिया। कई लोगों को हिरासत में ले लिया। इसके बाद भीड़ चिलकाना रोड पर पहुंची और हंगामा किया। यहां पुलिस ने हालात संभाले तो मल्लीपुर रोड पर भीड़ ने बवाल शुरू कर दिया। देखते ही देखते बेहट रोड, बड़गांव रोड, नजीपुरा में भी हंगामा शुरू हो गया।

 
पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए बल प्रयोग किया तो भीड़ भड़क उठी। दर्जनों वाहनों में आग लगा दी गई। पुलिस पर पथराव किया। बड़गांव रोड पर भीड़ में से जबरदस्त फायरिंग की गई। उधर, इस प्रदर्शन में भाग लेने के लिए रामपुर मनिहारान से आ रहे लोगों को भी रामपुर थाने पर रोक लिया गया। यहां भीड़ ने पत्रकारों से भी नाराजगी जाहिर की।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: Regional