गरीब पिता ने पेट काटकर दिलाई थी किताबें, बेटे अनिकेत का 12वीं की परीक्षा में कमाल

गरीब पिता ने पेट काटकर दिलाई थी किताबें, बेटे अनिकेत का 12वीं की परीक्षा में कमाल

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (MP Board result 2017) की ओर से गुरुवार को जब 12वीं के नतीजे घोषित किए गए तो जिनके रिजल्ट अच्छे आए उनके घरों में खुशियों की बहार आ गई तो कुछ लोग खराब परिणाम के चलते थोड़े मायूस दिखे. रिजल्ट आने की खुशी और गम के बीच ग्वालियर जिले का अनिकेत अरोड़ा टीवी चैनलों की सुर्खियों में छा गया. अनिकेत ने मेरिट सूची में दूसरा स्थान हासिल किया है. इसके सुर्खियों में आने की मुख्य वजह यह है कि वह बेहद साधारण परिवार से है और उसने आर्थिक तंगी से जूझते हुए यहां तक पढ़ाई की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मेधावी अनिकेत अरोड़ा के पिताजी एक छोटी सी दुकान चलाते हैं. इससे होने वाली मामूली कमाई से ही पूरे परिवार का खर्च चलता है. पढ़ाई के प्रति बेटे की लगन को देखकर पिता और मां ने अपनी जरूरतों को नजरअंदाज कर अनिकेत के लिए सुविधाएं मुहैया कराई.

अनिकेत को बचपन से ही गणित में रूचि थी. पिता ने इस बात को ध्यान में रखकर अपनी हैसियत से बढ़कर अनिकेत को गणित के अच्छे शिक्षक उपलब्ध कराने की भरसक कोशिश की. बेटे ने भी पिता के इस कोशिश की लाज रखी और MP Board के 12वीं की परीक्षा परिणाम में दूसरा स्थान हासिल किया. अनिकेत का छोटा भाई हाईस्कूल में है. वहीं अनिकेत ने बचपन से ही संत कंवर राम स्कूल में पढ़ाई की है. गणित से 12वीं करने वाले ज्यादातर छात्र जहां इंजीनियर बनना चाहते हैं, वहीं अनिकेत का लक्ष्य आईएएस बनना है.

मालूम हो कि मध्‍यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं का रिजल्‍ट रिजल्ट सीएम शिवराज सिंह के सरकारी आवास पर घोषित किए गए. स्‍टूडेंट्स अपना रिजल्‍ट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं. इस सिलसिले में मुख्यमंत्री आवास पर एक समारोह भी आयोजित हुआ, जिसमें मेधावी छात्रों को सम्मानित किया गया. खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन्हें पदक प्रदान कर सम्मानित किया. हायर सेकेंडरी की मेधा सूची में छोटे शहरों के बच्चों ने बड़ी बाजी मारी है. मुख्यमंत्री आवास पर शुक्रवार की सुबह प्रदेशभर से मेधावी छात्र पहुंचे. इन छात्रों पर मुख्यमंत्री शिवराज ने पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया. इसके बाद उन्होंने विभिन्न संकायों की मेधा सूची में आए छात्रों को पदक प्रदान कर सम्मानित किया.

बारहवीं गणित में विदिशा के संयम जैन 500 में से 485 अंक लाकर टॉप पर रहे, जबकि सीधी की अनुष्का जौहरी को 500 में 472 अंक लाकर दूसरे नंबर पर रहीं.

बता दें कि मध्‍यप्रदेश में 12वीं क्‍लास की परीक्षाएं 3 मार्च 2017 से शुरू होकर 31 मार्च तक आयोजित की गई थीं. वर्ष 2016 में हायर सेकेंडरी यानि 12वीं की परीक्षा में 7 लाख 66 हजार परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इस वर्ष लगभग 7 लाख 12 हजार छात्र हायर सेकेंडरी की परीक्षा में सम्मलित हुए.

Courtesy:NDTV 

Categories: India

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*