ग्लोबल रैंकिंग: सैन्य क्षमता में भारत दुनिया का चौथा ताकतवर देश, PAK 13वें नंबर पर

ग्लोबल रैंकिंग: सैन्य क्षमता में भारत दुनिया का चौथा ताकतवर देश, PAK 13वें नंबर पर

दुनिया के सशस्त्र बलों की ताजा ग्लोबल रैंकिंग में अमेरिकी फौज शीर्ष पर है. दुनिया भर की सेनाओं पर विश्लेषण करने वाली वेबसाइट ग्लोबल फायर पॉवर के मुताबिक, दूसरे नंबर पर रूस और तीसरे नंबर पर चीन की सेना आती है. फ्रांस 5वें नंबर पर है. वहीं, भारत फ्रांस से ऊपर चौथे नंबर पर है. लिस्ट में पाकिस्तान को 13वां नंबर मिला है.

ग्लोबल फायरपॉवर वेबसाइट 50 फैक्टर्स के आधार पर रैंकिंग जारी करती है. इसमें रक्षा बजट, जनबल और देश के पास मौजूद सैन्य उपकरण को देखा जाता है, जिसमें हथियारों की श्रेणी, सैन्य लचीलापन और प्राकृतिक संसाधन भी शामिल होते हैं. हालांकि इस रैंकिंग में परमाणु क्षमता का ध्यान रखा गया है, पर इसे काउंट नहीं किया गया है.

भारत के पास 2,102 एयरक्राफ्ट
रिपोर्ट के मुताबिक, भारत का रक्षा बजट 51,000,000,000 डॉलर का है. उसके पास 4,426 टैंक, तीन एयरक्राफ्ट/हेलीकॉप्टर कैरियर और 2,102 एयरक्राफ्ट हैं. वहीं नौसेना की ताकत के रूप में 295 जहाज हैं. साथ ही सीमा पर 1,325,000 जवान तैनात हैं.

पाकिस्तान का रक्षा बजट 7,000,000,000 है. उसके पास 2924 टैंक और 951 एयरक्राफ्ट हैं. उसके पास एक भी एयरक्राफ्ट कैरियर नहीं है. उसकी नौसेना ताकत के रूप में 197 जहाज हैं. सीमा पर उसके पास 6,20,000 जवान तैनात हैं.

अमेरिका का रक्षा बजट 587,800,000,000 है. उसके पास 145,215,000 जनशक्ति उपलब्ध है. डोनाल्ड ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने सैन्य शक्ति को बढ़ाने के लिए रक्षा बजट में 54 बिलियन अमेरिकी डॉलर वृद्धि की इच्छा जाहिर की थी. अमेरिका के पास 19 एयरक्राफ्ट/हैलीकॉप्टर कैरियर, 5884 टैंक्स, 13762 एयरक्राफ्ट, नौसेना ताकत के रूप में 415 जहाज और 14,00,000 सैनिक सीमा पर तैनात हैं.

रूस का रक्षा बजट 44,600,000,000 डॉलर का है. उसके पास सिर्फ एक एयरक्राफ्ट कैरियर है, लेकिन 20215 टैंक हैं. 3794 एयरक्राफ्ट हैं और उसकी नौसेना ताकत के रूप में 352 जहाज हैं. जबकि, सीमा पर उसके पास 766,055 जवान हैं. हालांकि, रूस की मीडिया के मुताबिक अमेरिका से चुनौती लेने के लिए वह दुनिया का सबसे बड़ी एयरक्राफ्ट बनाने की तैयारी में है.

चीन का रक्षा बजट 161,7000,000,000 डॉलर का है. उसके पास सिर्फ एक एयरक्राफ्ट कैरियर है. 6457 टैंक, 2955 एयरक्राफ्ट, नौसेना ताकत के रूप में 714 जहाज और सीमा पर उसके पास 2,335,000 जवान हैं. चीन साल 2013 से एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने की तैयारी कर रहा है और इसके साल 2020 तक बन जाने की उम्मीद जताई जा रही है.

फ्रांस को इस लिस्ट में 5वें नंबर पर रखा गया है. उसका रक्षा बजट 35,000,000,000 है. उसके पास 406 टैंक, 4 एयरक्राफ्ट/हैलीकॉप्टर कैरियर, 1305 एयरक्राफ्ट के साथ-साथ नौसेना ताकत के रूप में 118 जहाज हैं. सीमा पर उसके पास 205000 जवान हैं.

ब्रिटेन के पास विश्व की छठवीं सबसे बड़ी सैन्य शक्ति है. उसका रक्षा बजट 45,700,000,000 डॉलर है. उसके पास 30 मिलियन जवान हैं, जिसमें सीमा पर 150,000 जवान हैं. एक हेलॉकॉप्टर कैरियर, 249 टैंक, 856 एयरक्राफ्ट और नौसेना में 76 शीप हैं.

Courtesy: News18

Categories: International