युवराज सिंह हुए भावुक, पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक और यूनुस खान को दिया यह विदाई संदेश…

युवराज सिंह हुए भावुक, पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक और यूनुस खान को दिया यह विदाई संदेश…

नई दिल्ली: पाकिस्तान क्रिकेट टीम टेस्ट सीरीज के लिए वेस्टइंडीज दौरे पर थी. विंडीज की धरती पर सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच उसके लिए दो वजह से खास बन गया. पहला यह कि पाकिस्तान ने पहली बार विंडीज की धरती पर कोई टेस्ट सीरीज जीती और दूसरा यह कि इस मैच के साथ ही उसके दो महान खिलाड़ियों कप्तान मिस्बाह उल हक और यूनुस खान के करियर का गौरवशाली अंत हो गया. पाक टीम इन दोनों को शानदार विदाई देने में कामयाब रही. भले ही भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों में तनातनी है, लेकिन यहां के खिलाड़ी एक-दूसरे की सराहना से पीछे नहीं हटते. मिस्बाह और यूनुस के प्रशंसक पाक में ही नहीं बल्कि विश्वभर में हैं, जिनमें टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और युवराज सिंह भी शामिल हैं. युवराज ने तो सोशल मीडिया पर संदेश पोस्ट करके इन दो महान खिलाड़ियों को भावुक संदेश दिया…

कप्तान मिस्बाह उल हक और यूनुस खान ने वेस्टइंडीज के खिलाफ यह सीरीज शुरू होने से पहले ही अपने संन्यास की घोषणा कर दी थी और कहा था कि रोसेयू टेस्ट उनके करियर का अंतिम मैच होगा. इन दोनों खिलाड़ियों को दुनियाभर से शुभकामना संदेश मिल रहे हैं और अब इनमें से एक संदेश युवराज सिंह का भी शामिल हो गया, जो इनकी महानता प्रदर्शित करता है.

टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह ने मिस्बाह और यूनुस को आधुनिक क्रिकेटरों के लिए रोल मॉडल बताते हुए लिखा, ‘पाकिस्तान क्रिकेट के दो महान खिलाड़ियों को गुडबाय… कप्तान मिस्बाह उल हक और यूनिस खान, क्रिकेट में आपका योगदान हम सबके लिए प्रेरणा है.’

मिस्बाह ने पाक टीम को बनाया नंबर वन
मिस्बाह उल हक ने 56 टेस्ट मैचों में पाकिस्तान टीम को नेतृत्व प्रदान किया. पाक टीम ने उनकी कप्तानी में 26 टेस्ट जीते, जबकि 19 में उसे हार मिली और 11 टेस्ट ड्रॉ रहे. उन्हीं की कप्तानी में पाकिस्तान टीम टेस्ट में नंबर वन बनी थी. हालांकि वह ज्यादा समय तक नंबर वन नहीं रह पाई और भारत ने उसे पीछे छोड़ दिया था.

मिस्बाह के क्रिकेट करियर पर नजर डालें, तो उन्होंने टेस्ट मैचों में मई, 2001 में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू किया था. मिस्बाह ने टीम के लिए 75 टेस्ट मैच खेले, जिनमेंउनके बल्ले से 5,222 रन निकले. उनका औसत और 46.62 रहा. उनके नाम 10 शतक और 59 फिफ्टी हैं. मिस्बाह ने 162 वनडे में भी भाग लिया और 5,122 रन बनाए, जिनमें उनका औसत 43.40 रहा. मिस्बाह टी-20 के भी बड़े खिलाड़ी रहे. उन्होंने 39 टी20 मैचों में 788 रन बनाए, जिनमें उनका औसत 37.52 रहा, जो टी-20 के लिहाज से काफी बेहतर है.

पाक के पहले 10 हजारी हैं यूनुस खान
यूनुस खान ने इसी सीरीज में टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रन पूरे किए थे और वह ऐसा करने वाले पहले पाकिस्तानी बल्लेबाज बने. यूनुस ने 118 टेस्ट मैच खेले, जिनमें 10099 रन बनाए. उन्हें पाक टीम की दीवार कहा जाता था. यूनुस के नाम 34 शतक और 33 फिफ्टी हैं. टेस्ट में उनका बेस्ट 313 रन है.

COurtesy:NDTV 

Categories: Politics

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*