केजरीवाल मानहानि केस: जेठमलानी से बोले जेटली- अपमान की भी एक सीमा होती है

केजरीवाल मानहानि केस: जेठमलानी से बोले जेटली- अपमान की भी एक सीमा होती है

अरुण जेटली v/s अरविंद केजरीवाल मानहानि मामले में आज दिल्ली हाई कोर्ट में अरविंद केजरीवाल के वकील राम जेठमलानी और अरुण जेटली के वकीलों के बीच जमकर तीखी नोंकझोंक हुई.

राम जेठमलानी ने इंडियन एक्सप्रेस में लिखे अपने लेख को अरुण जेटली को दिखाया और पूछा कि क्या आपने इसे पढ़ा है. तो अरुण जेटली के वकीलों ने इस पर आपत्ति जताई. कई बार राम जेठमलानी ने यही सवाल पूछे और जेठलमलानी ने बोला अरुण जेटली चोर हैं और मैं साबित करूंगा.

इस पर अरुण जेटली ने कहा क्या अरविंद केजरीवाल ने आपको अनुमति दी है ये शब्द कहने के लिए, अगर दी है तो मैं 10 करोड़ की मानहानि की राशि को बढ़ाने वाला हूं. इसके बाद जेटली ने ये भी कहा कि अपमान की एक सीमा होती है.

जेटली-केजरीवाल मानहानि मामले में आज भी हाई कोर्ट में तीखी बहस के बीच जेटली ने कहा, “जेठमलानी अपनी खुद की दुश्मनी निकाल रहे हैं. अगर इसी तरह के दुर्भावनापूर्ण सवाल पूछे जाएंगे तो मैं अपनी मानहानि की 10 करोड़ की रकम को बढ़ा सकता हुं.” गौरतलब है कि जेठमलानी लगातार अपने सवालों में अरुण जेटली के लिए CROOK शब्द का इस्तेमाल कर रहे थे जिस पर जेटली और उनके वकीलों ने सख्त ऐतराज किया.

जेटली ने कहा कि आप निजी जिंदगी को लेकर हमले कर रहे हैं ये ठीक नहीं है. इसके बाद जेठमलानी ने कहा कि मैं अपने क्लाइंट की मर्जी से मिल रहा हुं. और हमेशा अपने क्लाइंट से केस से समझने के लिए मिलता हुं.

राम जेठमलानी ने कोर्ट में ये भी कहा कि काला धन लाने में मैंने जितनी लड़ाई लड़ी अरुण जेटली ने उस पर पानी फेर दिया. अरविंद केजरीवाल के दूसरे काउंसिल ने कोर्ट से दूसरे दिन का समय मांगा. जिस पर कोर्ट ने सुनवाई के लिए 28 और 31 जुलाई की तारीख दे दी है.

Courtesy: Aajtak

Categories: India

Related Articles