रसगुल्ले की वजह से पंडाल बना लड़ाई का मैदान, बारात बिना दुल्हन के वापस

रसगुल्ले की वजह से पंडाल बना लड़ाई का मैदान, बारात बिना दुल्हन के वापस

लखनऊ: एक शादी सिर्फ इसलिए कैंसिल हो गई क्योंकि रसगुल्लों की वजह से विवाद हो गया. उत्तर प्रदेश के जिले उन्नाव में ऐसा ही एक मामला सामने आया है. मीडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक खुंटहा गांव के रहने वाले शिवकुमार की शादी कर्मापुर गांव में सविता ( बदला हुआ नाम) नाम की लड़की से तय हुई थी. बारात बड़े ही धूमधाम से गांव पहुंची थी और जमकर आवभगत भी की गई थी. नाचते-गाते बाराती वधु पक्ष के दरवाजे पहुंचे जहां उनका गुलाब के फूलों से स्वागत किया गया और सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था. इसके बाद जयमाल के समय बारातियों को स्नैक्स के साथ कोल्ड ड्रिंक और कॉफी दी गई.
इसके बाद दुल्हन के पिता ने सभी बारातियों से कहा कि वह पहले खाना खा लें ताकि इसके साथ ही आगे के रिवाज शुरू किए जा सकें.  बारातियों के खाने की व्यवस्था अलग से पंडाल में की गई थी. शानदार व्यवस्था देख सभी बाराती खुश थे. तभी अचानक दुल्हन और दूल्हे के चचेरे भाई मनोज के बीच बहस शुरू हो गई.
दरअसल खाने की प्लेट पर मनोज ने दो रसगुल्ले रख लिए थे जबकि दुल्हन पक्ष के जिस रिश्तेदार को मिठाई के स्टॉल की जिम्मेदारी दी गई थी उसे शायद बोला गया था कि हर बाराती को एक ही रसगुल्ला देना है.  जब मनोज ने दो रसगुल्ले रख लिए तो उस रिश्तेदार ने मनोज को टोक दिया.  इस पर दोनों के बीच बहस शुरू हो गई और थोड़े ही देर में दूसरे बाराती भी वहां पहुंच गई और झगड़ा शुरू हो गया.
थोड़ी ही देर में पंडाल के पास नजारा कुश्ती का मैदान जैसा दिखने लगा और बुरी तरह से मारपीट शुरू हो गई. बारातियों और वधु पक्ष के बीच भयंकर हाथापाई चल रही थी. लोग एक दूसरे पर प्लेट फेंकने लगे. बारातियों का उत्पात बढ़ता ही जा रहा था उन्होंने सारी हदें पार कर डालीं और खाने का सामान पूरे पंडाल में बिखरा डाला.
दुल्हन के पिता ने सभी बारातियों को समझान की कोशिश की लेकिन कोई भी मानने के लिए तैयार नहीं था. इतना ही नहीं मनोज और उसके साथियों ने दुल्हन के पिता के साथ धक्कामुक्की कर डाली.  इसी बीच किसी ने पुलिस को खबर कर दी जिसने मौके पर पहुंच कर मामले को शांत कराया. इसके बाद गांव में पंचायत बुलाई गई जिसमें फैसला लिया गया कि शादी को आगे बढ़ाया जाए लेकिन बारातियों के उत्पात से नाराज दुल्हन सविता ने शादी से करने से इनकार कर दिया.  उसने लाख मनाने के बाद भी शादी के लिए हामी नहीं भरी.
फिर क्या था मिठाई और सब्जी चेहरे और कपड़ों में लगाए बाराती बिना दुल्हन के ही वापस लौट गए. इलाके के एसचओ मोहम्मद अशरफ ने मीडिया से बातचीत में बताया कि दुल्हन के पिता की ओर से शिकायत दर्ज करा दी गई है और मामले की जांच की जा रही है.

Courtesy: NDTV

Categories: Regional

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*