‘शराबबंदी के बावजूद बीजेपी कार्यालय में कहां से आईं शराब और बीयर की बोतल’

‘शराबबंदी के बावजूद बीजेपी कार्यालय में कहां से आईं शराब और बीयर की बोतल’

पटना। बुधवार दोपहर पटना में राजद-भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसक झड़प में राजद नेता मनोज झा ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर बीयर और शराब की बोतलों से हमला करने के आरोप लगाए हैं। ऐसे में इस बात को लेकर चर्चाएं गर्म हो गई हैं कि आखिर शराबबंदी के बावजूद भाजपा कार्यालय में खाली बोतलें कहां से आईं। मनोज झा ने यह सवाल उठाते हुए जांच की मांग की है।

 

इस मामले में शाम को राजद ने भी FIR दर्ज कराई है। राजद द्वारा कोतवाली थाना में दर्ज कराई गई FIR में बिहार भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय और पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को नामजद किया गया है। राजद का आरोप है कि इन लोगों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को पार्टी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे राजद कार्यकर्ताओं पर हमला करने के लिए उकसाया।
इससे पहले राजद नेता रामचंद्र पूर्वे की अध्यक्षता में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने DGP से मुलाक़ात की और राजद-भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की। राजद नेताओं ने आरोप लगाया कि पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला भाजपा नेता सुशील मोदी के इशारों पर किया गया है। उन्होंने DGP से भाजपा कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की मांग भी की है।

 

 

राजद-भाजपा कार्यकर्ताओं की झड़प मामले में पुलिस की ओर से अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मीडियाकर्मियों के पास मौजूद घटना की फुटेज के आधार पर दोषियों की पहचान की जा रही है।

 

 

भाजपा नेताओं द्वारा दर्ज कराई गई FIR में राजद प्रमुख लालू प्रसाद के साथ ही डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और हेल्थ मिनिस्टर तेजप्रताप यादव को नामजद बनाया गया है। इधर घटना के बारे में राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि आरजेडी के छात्र विंग के कार्यकर्ता शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने गए थे, लेकिन उन पर पत्थरों, बीयर की बोतलों और धारदार हथियारों से भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला किया। मनोज झा ने सवाल किया कि राज्य में शराबबंदी है, इसके बावजूद भाजपा कार्यालय में बीयर की बोतलें कहां से आईं।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles