रामपुर छेड़छाड़ मामला : योगी सरकार 14 आरोपियों पर कर रही है NSA लगाने का विचार

रामपुर छेड़छाड़ मामला : योगी सरकार 14 आरोपियों पर कर रही है NSA लगाने का विचार

लखनऊ: यूपी के रामपुर में दो महिलाओं से बदसलूकी के मामले में किरकिरी के बाद राज्य सरकार 14 आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून यानी एनएसए लगाने पर विचार कर रही है. इस मामले के 8 आरोपी अब भी गिरफ्त से बाहर हैं,  जबकि 4 मुख्य आरोपी समेत 6 लोग सलाखों के पीछे हैं. शनिवार को इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें 14 लोग दो महिलाओं के साथ ज़बरदस्ती करते दिख रहे हैं.

यह मामला तब प्रकाश में आया जब सोशल मीडिया पर रामपुर की एक वीडियो क्लिप वायरल हुई थी, जिसमें 14 लड़के दो लड़कियों के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे और लड़कियां उनसे छोड़ने की गुहार लगा रही थी और लड़के छेड़छाड़ करते समय हंस रहे थे.

पीड़ित लड़कियां टांडा के कुआंखेड़ा में शनिवार शाम बारात में आई थीं. वे कुछ काम से कहीं जा रही थीं, तभी मनचलों ने उन्हें घेर लिया और बदसलूकी शुरू कर दी. उनमें से एक उन लड़कियों को अपने साथ उठाकर ले जाने की कोशिश भी की. इस घटना के बाद से दोनों लड़कियां सदमे में हैं. उनके परिवार के लोग भी काफी डरे हुए हैं.

मामले पर आजम खान का बेतुका बयान
रामपुर जिले में दो लड़कियों के साथ छेड़खानी की घटना पर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आजम खान ने बेतुका बयान दिया था. उन्होंने कहा कि रेप और छेड़छाड़ से बचने के लिए महिलाओं को घरों में ही रहना चाहिए. लड़कियों को ऐसी जगहों पर नहीं जाना चाहिए, जहां बेशर्मी का नंगा नाच हो रहा हो. आजम खान ने कहा था कि पिछले दिनों लगातार महिलाओं के साथ छेड़छाड़ एवं अभद्रता, लूट, डकैती और हत्या की घटना हुई है. विधानसभा चुनावों से पहले मैंने लोगों से आग्रह किया था कि सपा की कानून-व्यवस्था की स्थिति को दिमाग में रखें। मैंने कहा था कि यदि बीजेपी को मौका दिया गया तो कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो जाएगी. उन्होंने आरोप लगाया कि जबसे भाजपा सत्ता में आई है तबसे उत्तर प्रदेश में महिलाएं सुरक्षित नहीं रह गई हैं.

Courtesy: NDTV

Categories: Politics

Related Articles