यूपी गैंगरेप में आया नया मोड़, पुलिस को राजस्थान में मिले अहम सुराग

यूपी गैंगरेप में आया नया मोड़, पुलिस को राजस्थान में मिले अहम सुराग

नोएडा जेवर-बुलंदशहर स्टेट हाई-वे पर चार महिलाओं से सामूहिक दुष्कर्म व परिवार के मुखिया की हत्या के मामले में राजस्थान के भरतपुर गई पुलिस टीम के हाथ अहम सुराग लगे हैं। लुक्सर जेल में बंद बावरिया गिरोह के सदस्य लाखन से पुलिस ने दो घंटे तक पूछताछ की।

पुलिस ने जेल का रिकॉर्ड खंगाला तो पता चला है कि पिछले 16 महीने से लाखन से जेल में मिलने कोई भी नहीं आया है, इसलिए पुलिस ने उसे क्लीनचिट दे दी है। लाखन सहित कुल छह घुमंतू बदमाशों को 2005 में पुलिस ने पकड़ा था। सभी बदमाशों को आजीवन कारावास हो चुका है।

पुलिस को शक है कि दो स्थानीय बदमाश घटना में शामिल है और चार अन्य बदमाश घुमंतू गिरोह के हैं। स्थानीय बदमाश ने ही ईको कार की स्टेयरिंग संभाली थी और कार सड़क किनारे गन्ने के खेतों के बीच छिपाकर खड़ी की थी।

पुलिस फिलहाल मुखबिर सूचना तंत्र के आधार पर घटना का पर्दाफाश करने का प्रयास कर रही है। लाखन से पूछताछ के दौरान पुलिस को अहम जानकारी हाथ लगी है। जांच में यह पता चला है कि जब लाखन को आजीवन कारावास हुआ था तो उसके तीन साथी फरार थे।

तीनों के संबंध में लाखन ने पुलिस को जानकारी दी है, लेकिन पुलिस इस असमंजस में फंसी है कि फरार तीन साथियों की घटना में संलिप्तता है या नहीं। बावरिया ने ही स्थानीय घुमंतू बदमाश व चार अन्य घुमंतू बदमाशों के संबंध में जानकारी पुलिस को दी है।

पुलिस टीम के साथ मारपीट

वहीं, जेवर-बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर चार महिलाओं से सामूहिक दुष्कर्म व परिवार के मुखिया की हत्या के मामले में लगातार छापेमारी कर रही पुलिस के साथ जेवर कस्बे के कुरैब गांव के लोगों ने मारपीट की। पुलिस गांव में दबिश देने गई थी।

पुलिस ने दो संदिग्धों को गांव से उठाया था, इसी दौरान संदिग्धों के परिजन ने पुलिस के साथ मारपीट व अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया।

पुलिस संदिग्धों को हिरासत में कोतवाली लेकर आई। वहीं, घटना का पर्दाफाश नहीं होने पर एक पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को पीड़ित परिवार से मिलकर रोष व्यक्त किया।

जेवर बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर बीते बुधवार की रात जेवर के एक परिवार के साथ हुई हैवानियत के मामले का सात दिन बाद भी पुलिस पर्दाफाश नहीं कर पाई है। घटना के पर्दाफाश को लेकर पुलिस लगातार छापेमारी व दबिश दे रही है।

सोमवार को जेवर के कुरैब गांव में दबिश देने गई पुलिस के साथ संदिग्ध के परिजन ने मारपीट की। संदिग्ध के घर पहुंची पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए कोतवाली साथ चलने को कहा। जिसका उसने व परिजन ने विरोध किया।

मौका पाकर संदिग्ध व उसका साथी घर से भागने की कोशिश करने लगे तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद परिजन ने महिलाओं के साथ मिलकर पुलिस टीम के साथ मारपीट शुरू कर दी।

गैंगरेप पीड़िताओं की बारबार जांच

जेवर में हुई घटना में दुष्कर्म पीड़िताओं की बार-बार मेडिकल जांच होने का मामला सामने आया है। दिल्ली स्टेट कमेटी की ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक वूमेन एसोसिएशन (एआईडीडब्ल्यूए) ने इस बारे में मंगलवार को लखनऊ में उत्तर प्रदेश के डीजीपी से मुलाकात की और मामले की जांच में तेजी लाने की मांग की।

एसोसिएशन की महासचिव आशा शर्मा ने बताया कि पीड़िताओं का बार-बार मेडिकल टेस्ट करवाया जा रहा है। यह कार्रवाई एक ही बार में पूरी हो जानी चाहिए। घटना में महिलाओं के साथ काफी शारीरिक बर्बरता की गई है। पीड़िताओं को इलाज के लिए दिल्ली लाने का प्रयास किया जा रहा है।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime