राजनीतिअखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट पर योगी की तलवार, फंड रोका

बदायूं। साल 2014 में जब अखिलेश यादव यूपी के मुख्यमंत्री थे तब उन्होने पांच सौ पचास करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया था। लेकिन अपना कार्यकाल बीत जाने तक वह इसे पूरा नहीं करवा पाए थे। वहीं राज्य की योगी सरकार ने अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट की सभी ग्रांट रोक दी गई हैं और मेडिकल कॉलेज का काम अधूरा ही रुक गया है।

2014 में मुख्मंत्री अखिलेश यादव सहित उस समय के मुखिया मुलायम सिंह यादव बदायूं पहुचे थे और मेडिकल कॉलेज का शिलान्याश किया था। मेडिकल कॉलेज के इस प्रोजेक्ट में  550 करोड़ लगने थे। जिसमें से 400 करोड़ रूपए पुरानी सरकार जारी कर चुकी है और 70 प्रतिशत काम हो चुका है। अब नई सरकार ने इसकी पूरी ग्रांट रोक दी है, जिसके चलते पूरा काम रुक गया है।

मेडिकल कॉलेज में ओपीडी शरू हो गई है मगर अभी एमसीआई ने मान्यता नहीं दी है। एमसीआई की टीम ने मेडिकल कॉलेज की बिल्डिंग, स्ट्रक्चर, और डॉक्टरों को रोकने का स्थान सहित कई बिंदुओं पर अपनी असहमति जताई है।

 

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल को उम्मीद है कि जल्द किश्त मिल जाएगी। प्रिंसपल डॉ एसएन प्रजापति का कहना है कि 2017 के आखिर तक हम काम पूरा कर लेंगे, उसके बाद एमसीआई की टीम मान्यता दे सकती है, जिससे लोगों को बहुत फायदा मिलेगा।

दरअसल जिले में कोई भी गम्भीर बीमारी का इलाज नहीं हो पाता है और इलाज के लिए लोग बड़े सेंटर पर जाते हैं।

 Courtesy: National Dastak
Categories: Politics

Related Articles