यूपी में है पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद का ननिहाल, लेकिन मामा कर रहे भारत की जीत की दुआ

यूपी में है पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद का ननिहाल, लेकिन मामा कर रहे भारत की जीत की दुआ

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल (ICC Champions Trophy 2017 final) मुकाबले की दुनिया भर में चर्चा हो रही है. भारत के कोने-कोने में जहां टीम इंडिया की जीत की दुआ मांगी जा रही है वहीं पाकिस्तान के लोग अपनी टीम की खातिर प्रार्थना में जुटे हैं. ऐसे में हम आपको पाकिस्तानी टीम के कप्तान सरफराज अहमद के बारे में एक ऐसी बात बता रहा हूं, जिसे जानकार आप थोड़ा अचरज में पड़ सकते हैं. सरफराज अहमद का ननिहाल भारत में हैं. पाकिस्तान टीम के कप्तान के मामा महबूब हसन उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के कुंडा में रहते हैं. इससे भी दिलचस्प बात यह है कि सरफाराज अहमद कई बार अपने ननिहाल आ चुके हैं. यानी उनका भारत से गहरा नाता है. चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले से पहले सरफराज अहमद का पूरा परिवार जहां पाकिस्तान के जीत की दुआ मांग रहे हैं, वहीं उनके मामा महबूब हसन अपने मुल्क भारत की टीम की जीत के लिए प्रार्थना कर रहे हैं.

प्रतापगढ़ के स्थानीय अखबारों में छपि खबर के मुताबिक महबूब हसन ने बताया कि उन्हें अपने भांजे सरफराज से काफी लगाव है, लेकिन देश पहले आता है. इसलिए वह टीम इंडिया को जीतते देखना चाहते हैं. हालांकि उनका ये भी कहना है कि भले ही पाकिस्तान टीम हार जाए, लेकिन भांजा सरफाराज अहमद शानदार प्रदर्शन करे. उन्होंने चैंपियंस ट्रॉफी के सारे मैच देखे हैं. पूरे टूर्नामेंट में भांजे के शानदार खेल और कप्तानी से वे काफी खुश हैं.

महबूब हसन का कहना है कि सरफराज के दादा हाजी वकील अहमद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के फतेहपुर के रहने वाले थे. यहां तक की सरफरारज के दादा आजादी के बाद पहले ग्राम पंचायत चुनाव में जीतकर प्रधान बने थे. हालांकि साल 1952-53 में वह पाकिस्तान के कराची में जाकर बस गए थे. 70 के दशक में उनके बेटे शकील अहमद के साथ महबूब हसन की बहन शकीला का विवाह हुआ था.

Courtesy:NDTV

Categories: Sports