जीएसटीः 1 जुलाई से महंगे होंगे ये प्रॉडक्ट

जीएसटीः 1 जुलाई से महंगे होंगे ये प्रॉडक्ट

GST लागू होने के साथ ही कई प्रॉडक्ट महंगे हो जाएंगे. इन उत्पादों में गोल्ड, शैंपू, परफ्यूम जैसे पर्सनल केयर, टेलीविजन, फ्रिज और वॉशिंग मशीन जैसे कंज्यूमर ड्यूरेबल्स प्रॉडक्ट शामिल हैं.

हम आपको ऐसे उत्पादों के बारे में बता रहे हैं, जिन पर आपको ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे-

छोटी कारें-
4 मीटर से कम लंबाई के साथ 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन से ज्यादा कैपेसिटी न रखने वाली कारें या ऐसी कारें जितनी डीजल इंजन कैपेसिटी 1.5 लीटर से ज्यादा नहीं है, उन पर अभी 26-28 फीसदी टैक्स लगता है. वहीं, जीएसटी के तहत पेट्रोल कारों पर 28 फीसदी के अतिरिक्त 1 फीसदी का एडिशनल सेस लगेगा, जबकि डीजल इंजन वाली कारों पर 3 फीसदी का सेस लगेगा. इसका मतलब है कि मारुति सुजुकी ऑल्टो, सेलेरियो, वैगनॉर, बलेनो, रेनॉ क्विड, ह्युंडई इऑन और i20 जैसी कारों की कीमत बढ़ सकती है. छोटी डीजल कारों पर 31 फीसदी टैक्स लगेगा, ऐसे में ह्युंडई एक्सेंट, मारुति सुजुकी डिजायर और टाटा टिगोर जैसे कारों के दाम बढ़ेंगे.

चाय, कॉफी और मसाले-
जीएसटी के तहत चाय, कॉफी और मसाले महंगे होंगे. इन उत्पादों पर 5 फीसदी जीएसटी लगेगा. मौजूदा समय में इन पर 3-4 फीसदी का टैक्स लगता है.

गैंबलिंग और कसीनो-
जो लोग गैंबलिंग और कसीनो के शौकीन हैं, उन्हें पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा टैक्स देना होगा. जीएसटी के तहत गैंबलिंग पर 28 फीसदी टैक्स लगेगा.

TV, AC और वॉशिंग मशीन-
जीएसटी लागू होने के साथ आप एयर कंडीशनर्स (AC), टेलीविजन और वॉशिंग मशीन खरीदने पर ज्यादा पैसे खर्च करने के लिए तैयार रहिए. इन कंज्यूमर ड्यूरेबल्स प्रॉडक्ट्स पर आपको ज्यादा टैक्स देना होगा.

एफएमसीजी उत्पाद-
जीएसटी के तहत जहां साबुन और टूथपेस्ट सस्ते होंगे. वहीं, शैंपू और परफ्यूम जैसे दूसरे पर्सनल केयर प्रॉडक्ट्स महंगे होंगे.

मेटल्स और कंस्ट्रक्शन-
जीएसटी के तहत मेटल्स, माइनिंग और सीमेंट महंगी होगी, क्योंकि इन पर ज्यादा टैक्स लगेगा.

टोबैको और लग्जरी गुड्स-
एरेटेड ड्रिंक्स, टोबैको, लग्जरी गुड्स पर भी ज्यादा टैक्स लगेगा. जीएसटी के तहत इन उत्पादों पर 28 फीसदी टैक्स लगेगा.

टेलीफोन बिल-
टेलीफोन बिल पर मौजूदा 15 फीसदी की बजाय 18 फीसदी जीएसटी लगेगा, जिससे आपका टेलीफोन बिल बढ़ जाएगा, इसी तरह ब्यूटी पार्लर जाना भी महंगा पड़ेगा.

रेल टिकट-
जीएसटी लागू होने के बाद 1 जुलाई से फर्स्ट, सेकेंड और थर्ड एसी के टिकट थोड़े महंगे होने जा रहे हैं. उपनगरीय रेल सेवाओं के फर्स्ट क्लास टिकट पर भी आपको थोड़ा ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

बैंकिंग सर्विसेज-
बैंकिंग सर्विसेज महंगी होने जा रही हैं, क्योंकि इन पर 18 फीसदी जीएसटी लगेगा, जबकि अभी इन पर 15 फीसदी टैक्स लगता है. 1 जुलाई से डिमांड ड्राफ्ट, फंड ट्रांसफर जैसी सेवाएं महंगी पड़ेंगी. इसी तरह, टर्म पॉलिसीज, एंडोमेंट पॉलिसीज और यूलिप्स आदि के इंश्योरेंस प्रीमियम भी महंगे होंगे.

Courtesy:News18

Categories: India