UP के बिजनौर में SI की गला रेतकर हत्या, पिस्टल भी ले गए बदमाश

UP के बिजनौर में SI की गला रेतकर हत्या, पिस्टल भी ले गए बदमाश
बिजनौर. यूपी के बिजनौर के मंडावर थाने में तैनात बालावाली चौकी इंचार्ज (सब इंस्पेक्टर) शहजोर सिंह मलिक की शुक्रवार देर शाम अज्ञात बदमाशों ने गला रेतकर हत्या कर दी। एसआई की बॉडी को बदमाश सड़क किनारे खेत में फेंक गए और उनकी पि‍स्टल लेकर फरार हो गए। स्थानीय लोगों की इन्फॉर्मेशन मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मलिक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। हमले के वक्त इंस्पेक्टर मलिक मंडावर थाने से बालावली चौकी जा रहे थे। बालावाली में एक साल से थे तैनात…
– एसआई मलिक बालावाली पुलिस चौकी के इंचार्ज थे। वे यहां पिछले एक साल से तैनात थे।
– बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात करीब 8 बजे वह बाइक से मंडावर थाने से 20 किमी दूर स्थित बालावाली पुलिस चौकी जा रहे थे। इसी बीच गोपालपुर गांव से कुछ दूर पर बंद पड़ी कांच की फैक्ट्री के पास अज्ञात बदमाशों ने उनपर धारदार हथि‍यार से हमला कर दिया। शहजोर सिंह की हत्या के बाद बदमाशों ने उनका शव खेत में फेंक दिया और उनकी पिस्टल लेकर फरार हो गए।
गर्दन और उंगली कटी हुई थी
– घटनास्थल के पास से गुजर रहे एक शख्स की नजर सड़क किनारे खड़ी बाइक पर पड़ी तो उसने गांव वालों को जानकारी दी।
– स्थानीय लोगों के मुताबिक, शव सड़क किनारे खेत में पड़ा था। गर्दन और उंगली कटी हुई थी। शरीर पर चोट के कई निशान थे।
– घटना की सूचना मिलते ही डीएम जगतराज और एसपी अतुल शर्मा पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।
चौकी पर बने क्वार्टर में अकेले रहते थे एसआई
– पुलिस ऑफिसर्स के मुताबिक, एसआई मलिक चौकी पर बने क्वार्टर में रहते थे। उनका परिवार मेरठ के कंकड़खेड़ा में बाईपास पर रहता है। वे मूलरूप से शामली जिले के रहने वाले थे।
– एसपी बिजनौर अतुल शर्मा का कहना है कि, हत्या की वजह अभी पता नहीं चल सकी है।
अप्रैल-मई में योगी सरकार में बढ़ा क्राइम
– पिछले साल और इस साल अप्रैल से मई के बीच क्राइम रेट की तुलना करें तो 195% क्राइम बढ़ा है।
– अखिलेश सरकार के दौरान अप्रैल-मई राज्य में मर्डर के 101, रेप के 41, डकैती के 3 और लूट के 67 केस सामने आए थे। वहीं, योगी सरकार में इस साल इन दो महीनों में मर्डर के 240, रेप के 179, डकैती के 20 और लूट के 273 केस दर्ज हुए हैं।
– सपा सरकार में दो महीने के कार्यकाल के दौरान क्राइम के कुल 212 केस सामने आए। जबकि योगी सरकार में ये तादाद 712 केसों तक पहुंच गई। इस तरह सपा सरकार के मुकाबले योगी सरकार में 195% क्राइम रेट बढ़ गया।
– एडीजी बरेली बृजराज मीणा ने बताया कि कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उन्होंने भरोसा जताया है कि अारोपियों की जल्द ही गिरफ्तारी होगी।
Courtesy: Bhaskar.com
Categories: Crime