सिक्किम विवाद: चीन ने भारतीय सेना पर लगाया धोखा देने का आरोप, कहा- वापस बुलाए जाएं सैनिक

सिक्किम विवाद: चीन ने भारतीय सेना पर लगाया धोखा देने का आरोप, कहा- वापस बुलाए जाएं सैनिक

चीन और भारत के बीच जारी वाक्-युद्ध आज उस समय और बढ़ गया जब चीन ने सिक्किम के निकट के क्षेत्र में चीनी सेना को सड़क निर्माण करने से रोकने की भारतीय सेना की कार्रवाई को पूर्ववर्ती सरकारों के रूख का ‘‘उल्लंघन’’ करार देते हुए कहा कि भारत को अपनी सेना को अवश्य ही पीछे हटा लेना चाहिए। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा सिक्किम सेक्टर में भारत-चीन की सीमा सुस्पष्ट रूप से सीमांकित है। शुआंग ने मीडिया ब्रींिफग में पत्रकारों से कहा, ‘‘चीनी सरजमीन में प्रवेश कर और चीनी सैनिकों की सामान्य गतिविधियों को बाधित कर, भारत ने सीमा पर स्थापित कन्वेंशन और अंतरराष्ट्रीय कानून के बुनियादी उसूल का उल्लंघन किया है और सीमा क्षेत्र की शांति एवं स्थिरता बाधित की है।’’ चीनी प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम भारतीय पक्ष से चाहते हैं कि वे अपने सैनिकों को सीमा के भारतीय हिस्से में लौटाए और संबंधित क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता बहाली की स्थितियां पैदा करे।’’

चीन और भारत ‘दोका ला’ क्षेत्र में तकरीबन एक महीने से तनातनी की स्थिति में फंसे हैं जो 1962 के बाद से दोनों देशों की सेनाओं के बीच सर्वाधिक लंबा प्रतिरोध है। 1962 में दोनों देशों के बीच जंग हो चुकी है। सिक्किम मई 1976 में भारत का हिस्सा बना। यह एकमात्र प्रदेश है जहां चीन के साथ सीमा सीमांकित है। यहां रेखा चीन के साथ 1898 में हुई संधि पर आधारित है। दोका ला उस क्षेत्र का नाम है जिसकी भूटान दोकलाम के रूप में पहचान करता है जबकि चीन उसे अपना दोंगलांग क्षेत्र होने का दावा करता है।

Courtesy:Jansatta

Categories: International
Tags: China, India, Sikkim