एलईडी और चार लाख मांगे तो दुल्हन ने मंडप से लौटा दी बारात

एलईडी और चार लाख मांगे तो दुल्हन ने मंडप से लौटा दी बारात

लखनऊ (जागरण टीम)। अर्जुनगंज से आई बरात में दूल्हे और उसके पिता ने अधिक दहेज की मांग की, जिस पर दुल्हन ने मंडप में शादी से इनकार कर दिया। बराती नाच गाने के साथ खाना भी खा चुके थे, लेकिन आधी रात के बाद दूल्हे ने शादी के मंडप में चार लाख रुपये और एलईडी टीवी की मांग कर दी।

पिता को अपमानित होता देख दुल्हन ने मोर्चा संभाला, जिसके बाद बरात को वापस लौटना पड़ा। दुल्हन के पिता ने गोसाईंगंज थाने में दूल्हे व उसके पिता के खिलाफ तहरीर दी है। एसओ गोसाईंगंज का कहना है कि दूल्हे और उसके पिता को हिरासत में लिया गया है। एफआइआर दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

इटावा निवासी व्यवसायी रवींद्र गुप्ता शुक्रवार रात अपने बेटे राहुल गुप्ता की बरात लेकर अजरुनगंज निवासी एक कैटर्स के वहां आए थे। दुल्हन के पिता के मुताबिक तिलक में डेढ़ लाख रुपये व सामान, डेढ़ लाख एकाउंट में पहले ही दे चुके हैं। दूल्हे व दूल्हे के पिता ने बरातियों के साथ नाच गाने के साथ खाना खाया।

यहां बड़ा पंडाल लगाकर करीब 1000 बरातियों के खाने और रुकने की व्यवस्था की गई थी। रात एक बजे के करीब जब दुल्हन मंडप में पहुंची तो दूल्हे ने दहेज में चार लाख नकद और एलईडी टीवी देने की मांग की। इसके बाद ही फेरे लेने को कहा।

दहेज लोभी पिता-पुत्र सप्ताहभर पहले चार लाख का चेक क्लियर कराने पर बरात लाने की बात कह रहे थे। दुल्हन के पिता ने दूल्हे और उसके पिता को बहुत मनाने का प्रयास किया, अपनी पगड़ी तक उतार कर उनके कदमों में रख दी, लेकिन दोनों दहेज वसूलने की मांग पर अड़े रहे।

पिता को सरेआम अपमानित होता देखकर दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया। मामला बढ़ता देखकर घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम के सौ नंबर पर दे दी गई। पुलिस मौके पर पहुंची और दूल्हे व उसके पिता को हिरासत में लेकर थाने ले आई।

असली डिब्बों में नकली जेवर लेकर पहुंचे थे: दुल्हन के पिता के मुताबिक दूल्हे का पिता असली डिब्बों में नकली जेवर लेकर पहुंचा था। दुल्हन और उसके परिवारीजनों को नकली जेवर पहचानते देर न लगी। उन्होंने शक होने पर एक सर्राफ को बुलाकर जेवरों की पहचान कराई तो वह नकली निकले। नकली जेवर भी पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिए हैं।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*