गौरक्षा के नाम पर हत्या करना पवित्र काम नहीं: राम माधव

गौरक्षा के नाम पर हत्या करना पवित्र काम नहीं: राम माधव

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों में गौहत्या के नाम पर मारपीट और हिंसा के कई मामले सामने आए।  बीजेपी के राष्ट्रीय महासविच राम माधव ने मंगलवार को कहा, ‘गौ रक्षा  करना एक पवित्र काम है, लेकिन गाय की रक्षा के नाम पर हत्या करना पवित्र काम नहीं है। गाय पवित्र है। गाय की रक्षा करना भी पवित्र है, लेकिन हमारे लिए जीवन खुद भी पवित्र है।

दरअसल माधव भारत-बांग्लादेश मैत्री संवाद कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के साथ कट्टरतावाद को भारत और बांग्लादेश दोनों देश खतरा मानते हैं।

राम माधव ने कहा कि बांग्ला-बंधु शेख मुजीबर रहमान 1972 में बांग्लादेश वापस लौटे थे और चेतावनी दी थी कि देश में सांप्रदायिकता की राजनीति की इजाजत नहीं दी जाएगी। बंगा-बन्दू ने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि बांग्लादेश एक धर्मनिरपेक्ष राज्य होगा जहां सभी लोग अपने-अपने धर्मों का अभ्यास करेंगे।

राम माधव ने कहा कि भारत और चीन के पीछे जारी विवाद को मामले को संतुलित और धैर्यपूर्वक संभाले जाने की जरुरत है। यह ऐसे मुद्दे हैं जिनके लिए सभी संबंधित देशों और नेताओं को अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles