अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की निंदा नहीं परिणाम चाहिए’

अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की निंदा नहीं परिणाम चाहिए’

लखनऊ  श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकवादी हमले में मारे गए भक्तों के प्रति जिस प्रकार निंदा प्रस्ताव दिए जा रहे हैं यह पर्याप्त नहीं है। इस तरह की दुस्साहसिक वारदात कर आतंकियों ने ना केवल श्री अमरनाथ यात्रियों को नुकसान पहुंचाया है बल्कि भारतवर्ष के आस्था और सम्मान को भी चैलेंज कर दिया है। यह बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए और इसका परिणाम संपूर्ण विश्व के सामने आना चाहिए। यह बात लखनऊ जनविकास महासभा द्वारा आयोजित श्री अमरनाथ यात्रा में हुए भक्तों पर हमले के पश्चात आयोजित की गई श्रद्धांजलि सभा में संस्थापक संयोजक पंकज तिवारी ने व्यक्त किए।

उन्होंने कहा जिस प्रकार कश्मीर को लेकर के आतंकवादियों का रवैया है वह काफी दुखद है। उसमे मासूम भक्तों को निशाना बनाए जाने से पूरा विश्व स्तब्ध है और इस तरीके से हम अगर इंतजार करते रहे कि उनको बातचीत के जरिए समझा पाएंगे तो शायद यह कुल्हाड़ी पर पैर रखने जैसा ही होगा। श्रद्धांजलि सभा में सर्वप्रथम वहां पर हताहत हुए शिव भक्तों पर दो मिनट तक मौन रखकर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई एवं शोक संतप्त परिवार को इस अपार दुख को सहने की क्षमता देने की भगवान से प्रार्थना की गई।

इस अवसर पर लखनऊ जनविकास महासभा के अध्यक्ष एस के बाजपेयी अपने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि जहां मोदी सरकार दुनियाभर में भारत की मजबूती की बात कर रही है वही उसी की सीमा पर शिवभक्तों पर हमला यह बताता है कि कश्मीर में आतंकियों के ऊपर इसका कोई भी प्रभाव नहीं पड़ रहा है। महासभा के महामंत्री एवं श्री अमरनाथ यात्रा से 4 जुलाई को वापस लौट कर आए राम तिवारी ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि जिस तरीके का माहौल और जिस तरीके का व्यवहार वहां पर अमरनाथ यात्रियों के प्रति होता है काफी दुखद है। जबकि वहां के मुसलमान भाइयों की रोजी रोटी हमारे तीर्थ यात्रियों से ही चलती है और उन्हीं के नाम पर कत्लेआम मचाया जाना बहुत ही दुखद है।

 

श्रद्धांजलि सभा में अरविंद शुक्ला ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि जिस तरीके से आतंकी हमलों में शिवभक्त मारे गए हैं और बड़े बड़े नेता राजनेता निंदा पास कर रहे हैं उससे तो महसूस होता है कि हम को चूड़ियां पहन लेना चाहिए। महासभा के उपाध्यक्ष संतोष तिवारी, कोषाध्यक्ष राजीव कुमार गुप्ता, मंत्री अजय कुमार यादव संरक्षक डॉ. अगम दयाल एवं अरविंद नाथ मिश्रा सहित श्रद्धांजलि सभा में उपस्थित सैकड़ों लोगों ने इस हमले पर कड़ा रोष व्यक्त करते हुए दुख व्यक्त किया और सरकार से मांग की कि इस पर जल्द से जल्द एक्शन होना चाहिए। साथ ही आतंकी गतिविधियों को चला रहे पाकिस्तान सहित कश्मीर में उनको समर्थन करने वाले सभी आतंकी विचारधारा के लोगों को साफ कर दिया जाना चाहिए।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Regional