पिछड़े वर्ग की गरीब बेटियों को मिलने वाले शादी के अनुदान को योगी सरकार ने छीन लिया

पिछड़े वर्ग की गरीब बेटियों को मिलने वाले शादी के अनुदान को योगी सरकार ने छीन लिया

लखनऊ। योगी आदित्यनाथ ने जब ति में दलितों को तेजपत्ते की तरह इस्तेमाल करती है जिसे चुनाव बाद निकाल कर फेक दिया जाता है। एक तरफ पीएम मोदी दलितों के उत्तथान की बात करते है और दूसरी तरफ योगी आदित्यनाथ पिछड़े वर्ग की गरीब बेटियों को मिलने वाले शादी के अनुदान को रोक रहे हैं।

मुख्य बातेंः- 

  1. योगी सरकार ने पिछड़ों पर किया कड़ा प्रहार
  2. पिछड़े वर्ग की बेटियों को शादी के लिए मिलने वाले अनुदान को किया बंद 
  3. पहले पिछड़े वर्ग के माता पिता को बेटी के शादी के लिए मिलता था अनुदना
  4. सरकार देती थी 20 हजार रूपए का अनुदान

योगी आदित्यनाथ की सरकार ने फैसला किया है कि पिछड़े वर्ग की बेटियों को मिलने वाले शादी अनुदान योजना को बंद किया जाएगा। अब पिछड़े वर्ग के गरीब माता-पिता को अपनी बेटियों के हाथ पीले करने के लिए सरकारी मदद नहीं मिलेगी। बता दें कि अभी तक पिछड़े वर्ग की लड़कियों के शादी के लिए माता पिता को 20 हजार रूपए का अनुदान दिया जाता था।

अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक, पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के निदेशक ने जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारियों के लिए आदेश जारी करते हुए कहा है कि पिछड़े वर्ग की शादी अनुदान योजना के आवेदन अब प्राप्त न किए जाए। यह योजना शासन ने बंद कर दी है।

 

आदेश प्राप्त होने के तुरंत बाद जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी जयदीप सिंह ने एसडीएम, बीडिओ को पत्र जारी कर कहा है कि ‘शादी अुनदान के आवेदन प्राप्त न किए जाएं। साथ ही जो आवेदन उनके यहां पड़े है, उन्हें भी कार्यालय न भेजा जाए।

Courtesy: nationaldastak

Categories: Politics

Related Articles