अखिलेश यादव को कमजोर करने के लिए BJP का पैंतरा, मुलायम सिंह को पक्ष में कर CBI का डर दिखाया

अखिलेश यादव को कमजोर करने के लिए BJP का पैंतरा, मुलायम सिंह को पक्ष में कर CBI का डर दिखाया

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी केंद्र में जड़ें जमाने के बाद विरोधी पार्टियों को ठिकाने के लिए सारी चालें चल रही है। इसके लिए उसे चाहे कुछ भी करना पड़े वह किसी भी तरह से हिचक नहीं रही। जिन पार्टियों के नेता बीजेपी के साथ कदमताल मिलाने को तैयार नहीं उन्हें ठिकाने लगाने की पूरी कोशिशें की जा रही हैं। हाल ही में लालू यादव के परिजनों पर सीबीआई की छापेमारी इसका ताजा उदारण है।

मुख्य बातें-

  1. 2019 में लालू यादव बनाने जा रहे हैं महागठबंधन
  2. भाजपा इस कोशिश को तोड़ने के लिए कर रही है सारे जतन
  3. महागठबंधन बना तो भाजपा को उठानी पड़ सकती है भारी परेशानी
  4. अखिलेश पर दवाब डालने के लिए सीबीआई जांच की तैयारी

अब एक और मामले पर नजर डालेंगे तो भाजपा की तिकड़म आसानी से सामने आ जाएगी। 2019 में होने वाले चुनावों के लिए लालू प्रसाद यादव महागठबंधन बना रहे हैं। ऐसे में उनके बेटे और बेटी पर सीबीआई की छापेमारी की गई। इस महागठबंधन में ममता बनर्जी, मायावती और अखिलेश यादव के भी शामिल होने की संभावना है। अखिलेश यादव को कमजोर करने के उद्देश्य से बीजेपी ने बड़ा पैंतरा खेला है।

हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव में मुलायम सिंह यादव को भाजपा ने अपने पक्ष में कर लिया। इतना ही नहीं, यह सारी बातें और मुलायम कुनबे की फूट जनता को दिखाने के लिए शिवपाल सिंह से ऐलान भी करवा दिया कि उन्होंने नेताजी के कहने पर भाजपा को वोट दिया है।

अभी खबरें आ रही हैं कि परिवार में आपसी असहमति को और अच्छे तरीके से प्रजेंट करने के लिए भाजपा मुलायम सिंह यादव को क्रॉस वोटिंग का इनाम देते हुए बिहार का राज्यपाल बना सकती है। रामनाथ कोविंद के बाद खाली हुए इस पद की जिम्मेदारी अभी पश्चिम बंगाल के राज्‍यपाल को दी गई है।

इतना ही नहीं यूपी की योगी सरकार अखिलेश यादव पर और दवाब डालने जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नियुक्तियों को लेकर बड़ा बयान दिया है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिलेश यादव की सरकार में सभी नियुक्तिओं में धांधली हुई है। सीएम योगी ने 2012 से अब तक की सभी नियुक्तिओं की सीबीआई जांच कराने का फैसला लिया है।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: Politics

Related Articles