बामसेफ का बड़ा ऐलान- बैलेट से वोटिंग नहीं हुई तो चुनाव आयोग को 5 करोड़ लोग लौटाएंगे वोटर कार्ड

बामसेफ का बड़ा ऐलान- बैलेट से वोटिंग नहीं हुई तो चुनाव आयोग को 5 करोड़ लोग लौटाएंगे वोटर कार्ड

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में बामसेफ का 32वें राज्य अधिवेशन संपन्न हुआ। इस मौके पर कई जिलों से कार्यकर्ता पहुंचे हुए थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वामन मे मेश्राम ने कहा कि चुनाव आयोग ईवीएम से चुनाव करवाकर लोकतंत्र की हत्या कर रहा है।

मुख्य बातें-

  1. बामसेफ का 32वां राज्य सम्मेलन हुआ संपन्न
  2. वामन मेश्राम ने ईवीएम पर खड़े किए सवाल
  3. EVM से वोटिंग कराकर लोकतंत्र की हत्या कर रहा EC-मेश्राम
  4. सोशल मीडिया जोड़ेंगे तीन करोड़ लोग

 

उन्होने कहा कि चुनाव आयोग बीजेपी के साथ मिलकर ईवीएम में घोटाला करवा रहा है और इसलिए चुनाव आयोग ने 08 अक्टूबर 2013 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी घोटाला पकड़ने वाली वीवीपीएटी मशीन नहीं लगाया।

उन्होने कहा कि 2017 चुनाव के पहले उन्होने मायावती, अखिलेश, केजरीवाल को ईवीएम घोटाले होने के बारे में आगाह किया था मगर उन्होने उस समय इसे गंभीरता से नहीं लिया। उन्होने कहा कि चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में उनके सवालों का जवाब नहीं दिया और चुनाव आयोग के विरोध में सौ फीसदी बूथों पर वीवीपीएटी लगाने आदेश सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को उनकी केस पर 24 अप्रैल को दिया।

उन्होने कहा कि मैं वीवीपीएटी से संतुष्ट नहीं हूं इसलिए अब मुझे बैलेट पेपर चाहिए और इसके लिए पांच करोड़ लोगों का हस्ताक्षर अभियान चलाएंगे। जिसे बाद में राष्ट्रपति को सौंपेंगे। यदि इसके बाद भी चुनाव आयोग बैलेट पेपर से चुनाव कराने के लिए तैयार नहीं होता है पांच करोड़ लोग अपना वोटर कार्ड चुनाव आयोग को वापस करके जन आंदोलन करेंगे।

 

दूसरे सत्र की अध्यक्षता करते हुए उन्होने कहा कि वर्तमान मीडिया पर ब्राह्मणों का नियंत्रण होने के कारण मूलनिवासी बहुजनों के लिए सोशल मीडिया एक बेहतरीन विकल्प है। इसलिए आने वाले समय में तीन करोड़ लोगों को सोशल मीडिया से जोड़कर संगठित तरीके से उपयोग किया जाएगा।

Courtesy: nationaldastak

Categories: Politics

Related Articles