मुझे किसी का डर नहीं, सत्ता- सुख का लोभ ना पहले था और ना आगे रहेगा- शरद यादव

मुझे किसी का डर नहीं, सत्ता- सुख का लोभ ना पहले था और ना आगे रहेगा- शरद यादव

नई दिल्ली। जदयू के सीनियर नेता और राज्यसभा सदस्य शरद यादव ने कहा कि 11 करोड़ लोगों ने महागठबंधन के प्रति विश्वास प्रकट किया था और अब विश्वास कायम नहीं रहा। यादव ने कहा कि नीतीश मेरे साथी है और मैं उनकी बातों पर कोई टिप्पणी नहीं करूंगा । हर बयान पर हर समय टिप्पणी करना ठीक नहीं है।

मुख्य बातें-

  1. शरद यादव ने कहा-11 करोड़ लोगों ने महागठबंधन पर प्रकट किया था विश्वास
  2. राज्यसभा सांसद ने कहा-नीतीश की बातों पर टिप्पणी नहीं करुंगा
  3. राज्यसभा सांसद ने कहा-सत्ता-सुख का लोभ न पहले था और न आगे रहेगा

 

उल्लेखनीय है कि नीतीश ने कहा था कि पीएम मोदी को कोई हरा नहीं सकता, क्योंकि उनके मुकाबले का कोई नहीं है। इस पर जब शरद यादव से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि वे इस बारे में कुछ नहीं कहेंगे। यादव ने कहा कि जहां तक हारने या जीतने का सवाल है, इसके बारे में समय बतायेगा। इतना जरूर है कि 11 करोड़ लोगों ने महागठबंधन के प्रति विश्वास प्रकट किया था और वह विश्वास जरूर कायम नहीं रहा।

नीतीश ने सोमवार को स्वीकार किया था कि देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबला करने वाला कोई नेता नहीं है और 2019 में मोदी एक बार फिर जीतेंगे। साथ ही उन्होंने कहा था कि राजद के साथ बने महागठबंधन की सरकार में गवर्नेंस के मामले में थोड़ी दिक्कत होती थी।

 

यादव ने कहा कि मुझे धरती पर कभी भी किसी से भय नहीं लगा। हमने हमेशा देश, किसान, दलित, अकलियत आदि के लिये काम किया। 42 वर्ष से संसद से जुड़ा रहा हूं और साढ़े चार वर्ष जेल में भी रहा। कुछ लोग एक बार मीसा के तहत बंद हुए, वे इसका भजन गाते रहते हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए मैं इंसाफ के रास्ते पर चलने वाला हूं। सत्ता और सुख का लोभ न पहले था और न आगे रहेगा।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles