ईरान ने अमेरिकी प्रतिबंध को परमाणु समझौते का उल्लंघन बताया

ईरान ने अमेरिकी प्रतिबंध को परमाणु समझौते का उल्लंघन बताया

तेहरान: ईरान ने एक बार फिर अमेरिकी प्रतिबंध पर विरोध जताया है. ईरान ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हस्ताक्षर के बाद उस पर लगाए गए नए प्रतिबंध विश्व शक्तियों के साथ 2015 में हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते का ‘उल्लंघन’ है. ईरान के उप विदेश मंत्री और वरिष्ठ परमाणु वार्ताकार अब्बास अरागची ने गुरुवार को कहा कि समझौते का उल्लंघन हुआ है.

अब्बास अरागची ने कहा कि ईरान इन प्रतिबंधों का उचित जवाब देगा. साथ ही अमेरिकी नीतियों में नहीं उलझेगा. अरागची ने कहा कि ईरान ने 16 कदमों की सूची बनाई है जो वह अमेरिका के कदम के खिलाफ उठाएगा. उन्होंने विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी है, लेकिन साथ ही कहा कि इन कदमों में ईरान की सशस्त्र सेनाओं में ‘सुधार’ भी शामिल है.

क्या है अमेरिकी प्रतिबंध
अमेरिकी प्रतिबंधों में ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम में शामिल लोगों को दंड देना, हथियार प्रतिबंध लागू करना और ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड पर आतंकवाद संबंधी प्रतिबंध लगाना शामिल है.

Courtesy: NDTV

Categories: International

Related Articles