जानिए कहां भाजपा नेता ने कहा- ‘बीच सड़क पर नाक रगड़ने को तैयार हूं’

जानिए कहां भाजपा नेता ने कहा- ‘बीच सड़क पर नाक रगड़ने को तैयार हूं’

चंडीगढ़। हरियाणा के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे द्वारा आईएएस की लड़की का छेड़छाड़ का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ उसके पहले ही एक और बीजेपी नेता की गुंडई का मामला हरियाणा से ही सामने आया है। हरियाणा के फतेहाबाद नगर परिषद के प्रधान और बीजेपी नेता दर्शन नागपाल पर आरोप है कि उन्होंने मरीज को लेकर जा रही एंबुलेंस को करीब आधे घंटे तक रोके रखा। इस वजह से मरीज को समय से अस्पताल नहीं पहुंचाया जा सका और उसकी मौत हो गई।

खास बातें-

  1. हरियाणा में बीजेपी नेता ने की खुलेआम गुंडागर्दी
  2. बीजेपी नेता ने जबरन एंबुलेंस रोके रखी
  3. बीजेपी नेता द्वारा एंबुलेंस रोके जाने से मरीज की मौत

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 42 वर्षीय नवीन कुमार की दुकान पर बैठे तबीयत खराब हो गई थी। नवीन के परिजन उसे डॉक्टर के पास ले कर गए तो वहां हार्ट की तकलीफ बताते हुए दूसरे अस्पताल रेफर कर दिया गया। नवीन को एंबुलेंस से जब दूसरे अस्पताल ले जाया जा रहा था तो लाल बत्ती चौक पर एंबुलेंस नागपाल की गाड़ी से टच कर गई।

एंबुलेंस चालक सोनू ने बताया कि मरीज नवीन कुमार की हालत खराब थी इसलिए जल्दी अस्पताल पहुंचने के लिए वो एंबुलेंस वहां से लेकर निकल गया। इसके बाद नागपाल ने एंबुलेंस का पीछा किया और पुराना बस स्टैंड पर कार को एबुंलेंस के आगे अड़ा दिया। इसके बाद नागपाल, उनका ड्राइवर और एक व्यक्ति कार से उतर कर एंबुलेस की तरफ आए और एंबुलेंस के ड्राइवर से चाबी छीन ली। इसके बाद नागपाल ने नुकसान के भरपाई की मांग की।

इस बीच मरीज नवीन कुमार के परिजनों ने उसकी खराब तबीयत का हवाला देते हुए एंबुलेंस को अस्पताल जाने देने की गुहार लगाई। लेकिन नागपाल नुकसान की भरपाई पर अड़े रहे। कुछ लोगों के दखल देने के बाद एंबुलेंस को अस्पताल जाने दिया गया। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। अस्पताल में डॉक्टरों ने नवीन कुमार को मृत घोषित कर दिया।

इस घटना के बाद नवीन के परिजनों और ड्राइवर सोनू ने नागपाल को नवीन की मौत के लिए जिम्मेदार बताते हुए शहर थाने में शिकायत दर्ज कराई। मामले के तूल पकड़ता देख नागपाल ने मृतक के घर जाकर परिजनों को सांत्वना दी। लेकिन नागपाल मीडिया के सामने आए तो अपने खिलाफ आरोपों को बेबुनियाद बता दिया।

 

नागपाल ने कहा कि उनकी गाड़ी को एंबुलेंस ने टक्कर मारी थी। नागपाल ने एंबुलेस को रोके रखने से साफ इनकार किया। नागपाल ने कहा कि उन्होंने किसी के साथ कोई बदसलूकी नहीं की। माफी मांगने के सवाल पर नागपाल ने कहा कि अगर उन पर लगे आरोप साबित होते हैं तो वे बीच शहर में नाक रगड़कर माफी मांगने को तैयार हैं।

Courtesy: nationaldastak

Categories: India

Related Articles