10वीं में पढ़ रहे बेटे ने पिता के सीने में उतारी गोली, मां-बहन को बंधक बनाया

10वीं में पढ़ रहे बेटे ने पिता के सीने में उतारी गोली, मां-बहन को बंधक बनाया

इलाहाबाद   संगमनगरी इलाहाबाद में कल रिश्ते का खून हो गया। कक्षा दस के छात्र को उसके सिपाही पिता ने पढऩे के लिए फटकारा तो नाराज छात्र ने पिता को गोली मार दी। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। मामला धूमनगंज थाना के ट्रांसपोर्टनगर का है।

पढ़ाई के लिए फटकार से नाराज 10वीं के छात्र ने अपने सिपाही पिता मोतीलाल की गोली मारकर हत्या कर दी। इतना ही नहीं कत्ल के बाद मां और बड़ी बहन को मकान में बंधक भी बनाए रखा। कल रात सिपाही का बड़ा भाई घर पहुंचा तो घटना की जानकारी हुई। पुलिस ने आरोपी बेटे को गिरफ्तार करते हुए किचन से तमंचा व कारतूस बरामद कर लिया है।

मोतीलाल पाल (45) पुत्र रामप्रसाद कौशांबी के चरौरी चायल के निवासी थे। वह धूमनगंज के टीपी नगर भूसा वाली गली में मकान बनाकर पत्नी अनीता, बेटी दिव्या व बेटे संग रहते थे। मोतीलाल की भदोही में रिट सेल में तैनाती थी। परसों सुबह वह छुट्टी पर घर आए थे। घर आने पर शाम को मोतीलाल ने किसी बात पर पत्नी को फटकार लगाई। बीच बचाव पर बेटे को डांटा। इसके कुछ देर बाद विष्णु भगवान पब्लिक स्कूल, झलवा में पढऩे वाले बेटे को पढ़ाई के लिए फटकार लगाई। साथ ही यह भी कहा कि अब गणित में कम नंबर आया तो उसकी पिटाई की जाएगी।

 

पिता की फटकार से क्षुब्ध बेटे ने आपा खो दिया और फिर उसने पिटाई करते हुए तमंचे से सिर में गोली मार दी। बेटे की हरकत का मां व बहन ने विरोध किया तो मोबाइल छीनकर दोनों को मकान के ऊपरी मंजिल के कमरे में बंधक बना दिया।

 

कल देर रात मोतीलाल का बड़ा भाई घर पहुंचा तो कमरे में लाश देख दंग रह गया। उसने तुरंत पुलिस को सूचना दी।

 

कुछ ही देर में एसएसपी, एसपी सिटी, सीओ, इंस्पेक्टर समेत कई थाने की फोर्स मौके पहुंच गई। सीओ सिविल लाइंस श्रीशचंद्र का कहना है कि घटना छिपाने में किसकी भूमिका है, जांच हो रही है।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime