यूपी के सारे भू-माफिया अब भाजपा में, कानून-व्यवस्था बदहाल : अखिलेश

यूपी के सारे भू-माफिया अब भाजपा में, कानून-व्यवस्था बदहाल : अखिलेश

लखनऊ  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष तथा उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज योगी आदित्यनाथ सरकार पर गंभीर आरोप जड़े हैं। अखिलेश यादव आज समाजवादी पार्टी कार्यालय में मीडिया को संबोधित कर रहे थे।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार यहां की कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने की बात कहकर सत्ता पर काबिज हुई है, लेकिन योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बेहद निराश किया है। अब तो प्रदेश में अपराधी बेखौफ हैं। यह लोग भगवा आगौंछा लपेट लेने के बाद पुलिस के इकबाल को लगातार चुनौती दे रहे हैं। थानाध्यक्ष के साथ पुलिसकर्मी पीटे जा रहे हैं। एसपी के घर के अंदर घुसकर हमला किया जा रहा है।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने भू-माफिया पर एक्शन लेने की बात की थी, लेकिन अब तो सभी भूमाफिया भारतीय जनता पार्टी में जले गए हैं। नवाब साहब तो अब मंत्री बनने जा रहे हैं, जिनको जेल जाना था वो मंत्री बन रहे हैं। सुना है आने वाले समय में कुछ तो मंत्री बनने जा रहे हैं। अब इनके खिलाफ कैसे कार्रवाई संभव है। योगी आदित्यनाथ सरकार हर मोर्चे पर फेल हो रही है। मुख्यमंत्री प्रदेश का दौरा करते रहते है, लेकिन अफसर मस्त ही रहते हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार बलिया की घटना पर कह रही है कि हमने कार्यवाई की लेकिन एक बेटी की जान चली गई। स्कूल जा रही छात्रा को चाकुओं से गोद दिया गया। एसपी और अन्य पुलिसकर्मी हाथ पर हाथ दरे बैठे रहे। बलिया में जो कुछ हुआ वो बेहद गंभीर घटना है। प्रदेश की कानून व्यवस्था की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री हम पर आरोप लग रहे थे कि थाना हम चलाते थे लेकिन अब हम पूछ रहे हैं कि थाना कौन चला रहा है। अब तो पुलिस वसूली कर रही है। प्रदेश में 100 नंबर की व्यवस्था हमने दी थी सबने तारीफ की। इस सरकार ने इस व्यवस्था का सत्यानाश कर दिया।

उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार पुलिस की भर्ती रोके हुए है। सब इंस्पेक्टर परीक्षा का तो पेपर ही आउट हो गया। पुलिस का सिर्फ एक काम रह गया है। विपक्षी दल के नेताओं पर दबाव बनाने का। औरैया, मैनपुरी, कन्नौज आगरा में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय हो रहा है। इसको मैंने खुद डीजीपी सुलखान सिंह से बात की। वह कुछ भी बोलने और करने की स्थिति में नहीं हैं। पंचायत अध्यक्ष और सदस्यों को फंसाया जा रहा है, पुलिस हमारे लोगों को परेशान कर रही है। बीडीसी सदस्यों को परेशान कर रहे हैं। अपने जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लाक प्रमुख बनवाने के लिए वाले पुलिस का इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारे जिला पंचायत सदस्यों पर 302 और 376 के मुकदमे दर्ज कराए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार ने हमसे गाडिय़ां ले लीं। मैंने तो पहले कहा था कि सारी गाड़ी छीन लो मैं साइकिल से चल लूंगा। हमारी 3 गाडिय़ां छीन ली, हमारे तीन नेता भी छीन लिए। भाजपा वालों में अब चुनाव में जाने की जरा भी हिम्मत नहीं है। इसी कारण अब एमएलसी तोड़े जा रहे है। लखनऊ में मेट्रो चलाने पर उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार ने जानबूझ कर देरी की।

 

बाराबंकी में कल टोल प्लाजा पर बिना टोल चुकाए 200 गाडिय़ों ले जाने के प्रकरण पर अखिलेश यादव ने कहा कि हम महसूस करते हैं यह गलत हुआ है। हम कह रहे है कि एनएचएआइ वाले अपने कैमरे देखकर बता देंगे तो टोल भेज देंगे। वह लोग तो 200 कार बता रहे हैं लेकिन हम तो 1000 कार कह रहे हैं। वह विस्तृत ब्यौरा हमको भेज दें।

 

सरकार के पूर्व विधायकों के सचिवालय पास कैंसिल करने पर अखिलेश ने कहा कि इस मामले में हम निर्वाचन आयोग और राजभवन को अपनी शिकायत भेजेंगे। पूर्व विधायकों के सचिवालय पास कैंसिल करने के लिए विधानसभा में बम की बात कह दी गई। यह तो सरकार का विपक्ष को पंगु बनाने की साजिश है। किसी भी पूर्व विधायक को सरकार के खिलाफ अब कुछ भी नहीं मिल पाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि जो लोग नेता जी (मुलायम सिंह यादव) के सम्मान की बात करते थे, वहीं लोग अब नेता जी को छोड़कर जा रहे हैं।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics

Related Articles