शिव’राज’: सरकारी स्कूल बने जुआरियों और शराबियों के अड्डे

शिव’राज’: सरकारी स्कूल बने जुआरियों और शराबियों के अड्डे

भोपाल। सागर जिले के सेमरा गणपत गांव में सरकार प्राथमिक विद्यालय में ही पंचायत भवन भी शिफ्ट कर लिया गया है। जो इन दिनों जुआ खेलने का अड्डा बन गया है। स्थानीय शिक्षक और लोग इसे रोकने के लिए काफी प्रयास कर चुके हैं लेकिन उनके प्रयास अब व्यर्थ साबित हो रहे हैं।

मुख्य बातें-

  1. सागर के सेमरा गणपत गांव में स्कूल बना शराबियों और जुआरियों का अड्डा
  2. रोकने में स्थानीय शिक्षक और लोग हो रहे नाकाम
  3. गृह राज्यमंत्री भूपेंद्र सिंह के क्षेत्र में हैं यह स्कूल

स्कूल प्रबंधन का कहना है कि इस स्कूल में ऐसी गतिविधियों से छात्रों पर गलत प्रभाव पड़ रहा है। यह स्कूल ऐसे क्षेत्र में आता है जहां का प्रतिनिधित्व गृह राज्य मंत्री भूपेंद्र सिंह करते हैं।

 

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, खुराई तहसील के सेमरा गणपत गांव में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय है और इसी के साथ एक माध्यमिक स्कूल भी है। इनके आस-पास ग्राम पंचायत की इमारत है, जो जीर्ण हुई स्थिति में है।

रिपोर्ट के मुताबिक, यह बदहाल इमारत जुआ का अड्डा बन गया है जहां आसपास के इलाके के कुछ लोग सुबह से ही इकठ्ठा होना शुरु कर देते हैं। जुआ के अलावा कुछ ग्रामीण भी शराब पार्टियों के लिए इस जगह का उपयोग करते हैं। स्कूल क्षेत्र में चारों और इन दिनों शराबियों का उपद्रव चर्चा का विषय बना हुआ है।

प्राथमिक विद्यालय में 64 बच्चे प्राथमिक विद्यालय में पढ़ रहे हैं जबकि माध्यमिक विद्यालय में करीब 45 छात्र हैं। स्कूल के कुछ शिक्षक और कुछ ग्रामीणों ने इन अपराधियों को स्कूल के पास जुआ खेलने से रोकने की कोशिश भी की लेकिन वे इसे रोकने में सफल नहीं हो पा रहे हैं।

माध्यमिक विद्यालय के प्रभारी प्रिंसिपल पीड़ी कुशवाहा ने बताया कि बरसात के मौसम में मुख्य इमारत की छत लीक होने की वजह से इन दिनों बच्चों की क्लास को वे एक अन्य कमरे में चला रहे हैं।

उन्होने आगे कहा, मैने इन गांववालों को स्कूले के पास प्ले कार्ड और जुआ न खेलने के लिए कहा था लेकिन वे हमारी बात नहीं सुनते हैं। मैने पहले ही अपने सीनियर्स को इन मुद्दों के बारे में बताया था लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है।

प्राथमिक स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष दशरथ अहिरवार ने बताया कि इमारत से छेड़छाड़, जुआरियों के अड्डे समेत कई मुद्दों पर स्कूल प्रबंधन संघर्ष कर रहा है।

उन्होने कहा, मैने व्यक्तिगत रुप से उन लोगों (जुआरी) को ये गतिविधियां रोकने के लिए अनुरोध किया है। मेरी पत्नी गीता अहिरवार इस क्षेत्र की जिला पंचायत सदस्य हैं, उन्होने अधिकारियों भी अधिकारियों को लिखा था। लेकिन हम सभी को केवल आश्वासन मिल रहे हैं। जमीनी स्तर पर कोई बदलाव नहीं है।

 

पुलिस अधीक्षक सागर सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने कहा कि ऐसी अवैध गतिविधियों को अनुमति नहीं दी जा सकती है। उन्होने कहा कि वह समाज विरोधी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*