यूपी में पुलिस के डर से लड़के ने लगाई फांसी, पुलिसवाले बोले- आरोप झूठे

यूपी में पुलिस के डर से लड़के ने लगाई फांसी, पुलिसवाले बोले- आरोप झूठे
झांसी. यूपी के झांसी में पुलिस की दहशत से एक युवक के फांसी लगाकर सुसाइड करने का मामला सामने आया है। मृतक के पिता ने बताया, बेटे को पुलिस पकड़ने आई और घर में जमकर उत्पात मचाया। पुलिस की इस हरकत से बेटा बुरी तरह डर गया और फांसी लगा ली। वहीं, पुलिस का कहना है कि घर पर कोई तोड़फोड़ नहीं की गई।

ये है पूरा मामला…

– मामला झांसी के नवाबाद थाना क्षेत्र का है। यहां रहने वाले आत्माराम के बेटे विवेक ने गुरुवार को घर में फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया।

– मिली जानकारी के मुताबिक, 8 अगस्त की रात ऐबट मार्केट के पास स्थित पार्क में 2 पक्षों के बीच मारपीट हुई थी। जिसके बाद सदर बाजार थाना पुलिस ने मामले में सत्येंद्र, विवेक, इरफान और महमूद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी।
– गुरुवार को नवाबाद और सदर बाजार थाना पुलिस ने संयुक्त रूप से विवेक को पकड़ने के लिए 2 बार उसके घर में दबिश दी। हर कमरे की तलाशी के दौरान सामान की तोड़फोड़ की, दरवाजे तोड़ डाले। कुर्सी-मेज पलट दीं।
– जाते-जाते पुलिस ने चेतावनी थी दी कि अगर विवेक थाने नहीं पहुंचा, तो परिणाम इससे बुरे होंगे। घर लौटने पर विवेक को जब पुलिस की कार्रवाई का पता चला तो वह बुरी तरह डर गया।
– डर से उसने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया और रस्सी का फंदा बनाकर फांसी लगा ली। शाम 6 बजे के करीब परिजनों ने उसका शव फंदे पर लटका देखा।

– मोहल्ले वालों ने बताया, ऐबट मार्केट के पास स्थित पार्क में अराजक तत्वों का जमावड़ा रहता है। मनचले युवतियों से छेड़छाड़ की कोशिश करते हैं। इस बात को लेकर पहले ही पार्क में विवाद हो चुका है।
– 8 अगस्त की शाम भी विवाद का यही कारण था, लेकिन पुलिस ने एक पक्ष के ही 4 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की, उसमें विवेक का नाम भी शामिल था। जबकि, विवेक मौके पर था ही नहीं। इस बात का समर्थन सदर विधायक ने भी किया।

मृतक के पिता ने लगाए ये आरोप

– बेटे के फांसी लगाने के बाद आत्माराम वर्मा ने पुलिस पर आरोप लगाए कि उनके बेटे को पकड़ने के लिए पुलिस उनके घर आई और जमकर तोड़फोड़ की। शहर विधायक रवि शर्मा के साथ विवेक की फोटो लगी थी, उसे भी जमीन पर गिरा कर पैरों से कुचल दिया।

– बेटी के हाथ से मोबाइल छीन लिया और उसकी मार्कशीट तक ले गए। पुलिस की इस हरकत की जानकारी विवेक को हुई तो वह दहशत में आ गया और फांसी लगा कर सुसाइड कर ली। जबकि, घटना के बाद यह बात भी सामने आई कि मारपीट छेड़छाड़ को लेकर हुई थी, जिसमें विवेक का कोई लेना-देना नहीं था।
– पीड़ित परिवार ने विवेक की मौत के लिए सदर बाजार और नवाबाद पुलिस को जिम्मेदार ठहराते हुए दो थानेदारों और पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की मांग की है।

पुलिस का क्या है कहना…

– सदर बाजार थाना प्रभारी जय प्रसाद ने बताया, विवेक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी, लेकिन उसके घर न तो दबिश दी और न ही तोड़फोड़। परिजनों के आरोप गलत हैं। जांच में सब सामने आ जाएगा।

– एसपी देहात कुलदीप नारायण ने शहर विधायक रवि शर्मा को आश्वासन दिया कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
Courtesy: Bhaskar.com
Categories: Crime

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*