पीएम मोदी के भाषण की शिकायत लेकर थाने पहुंचीं महिला, ‘देशद्रोह’ का मुकदमा दर्ज कराने की मांग

पीएम मोदी के भाषण की शिकायत लेकर थाने पहुंचीं महिला, ‘देशद्रोह’ का मुकदमा दर्ज कराने की मांग

ओरंगाबाद (महाराष्ट्र)। महाराष्ट्र के ओरंगाबाद में एक वकील ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज करने की मांग की है। ओरंगाबाद के सिडको पुलिस स्टेश में वकील ने लिखित शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है प्रधानमंत्री के संबोधन की सामग्री संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन है। वकील रामा विट्ठलराव काले ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को संबोधित यह शिकायत पुलिस थाने में दर्ज कराई है, जिसमें उन्होंने दलील दी है कि मंगलवार को लाल किले के प्राचीर से दिए अपने 55 मिनट के भाषण में मोदी ने कई बार इंडिया और भारत का ‘हिंदुस्तान’ के तौर पर जिक्र किया।

मुख्य बातें-

  1. पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग
  2. एडवोकेट रमा विठ्ठल राव काले ने सिडको पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई शिकायत
  3. स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारत की जगह ‘हिंदुस्तान’ कहने का लगाया आरोप

 

काले ने बुधवार को कहा, संविधान के अनुच्छेद एक के अनुसार, इंडिया या भारत का उल्लेख है। संविधान में कही भी हिंदुस्तान का उल्लेख नहीं है, जो कि देश के धार्मिक नाम को प्रकट करता है। उन्होंने कहा कि भारत का हिंदुस्तान के तौर पर जिक्र 125 करोड़ भारतीयों व दुनिया भर में भारतीयों का अनादर है। इससे सभी देश भक्त लोगों का अपमान हुआ है।

काले ने कहा है, भारत के प्रधानमंत्री के तौर पर इस तरह का गैर जिम्मेदाराना और गलत संदर्भ देना (हिंदुस्तान के तौर), जिसे संविधान में कोई स्थान नहीं दिया गया, साफ तौर पर संविधान का अपमान है और अनुच्छेद एक का उल्लंघन है।

इसके अलावा शिकायत में लिखा है कि इसके अलावा पीएम मोदी ने चुनाव के दौरान कई ऐसे वादे किए थे जो पूरे नहीं किए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब जनता को पंद्रह लाख रुपये खाते में देने की बात कही थी लेकिन आज तक हर किसी के खाते में पंद्रह लाख रुपये नहीं आए हैं।

Courtesy: nationaldastak.

 

Categories: India

Related Articles