क्या विराट कोहली ले पाएंगे टीम इंडिया की 20 साल पुरानी ‘बेइज्जती’ का बदला?

क्या विराट कोहली ले पाएंगे टीम इंडिया की 20 साल पुरानी ‘बेइज्जती’ का बदला?

नई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंका में पहली बार टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप करने वाली टीम इंडिया के लिए वनडे की चुनौती रविवार से शुरू होगी। वनडे सीरीज टीम इंडिया के लिए चुनौती इसलिए हो सकती है, क्योंकि यहां भारत को पांच वनडे मैच खेलने हैं और इस सीरीज में क्लीन स्वीप करना भारत के लिए भी आसान नहीं होगा।

यह टीम इंडिया का आठवां श्रीलंका का दौरा है और आज तक टीम इंडिया एक बार भी वनडे सीरीज में क्लीन स्वीप नहीं कर सकी है। हां, एक बार श्रीलंका ने जरूर भारतीय टीम का सूपड़ा साफ किया था। हालांकि, पिछले कुछ समय से टीम इंडिया श्रीलंका में लगातार वनडे सीरीज जीतते आ रही है, पर उसे आज भी क्लीन स्वीप का इंतजार है। आइए जानते हैं कि क्या हैं, भारत और श्रीलंका के बीच श्रीलंका में हुए मैचों के रिकॉर्ड।

 

मैचों के नतीजे

 

कुल मैच- 27

भारत ने जीते- 13

श्रीलंका ने जीते- 10

बेनतीजा- 4

 

सीरीज के नतीजे

 

कुल सीरीज- 7

भारत ने जीतीं- 3

श्रीलंका ने जीतीं- 2

बराबरी या बेनतीजा- 2

क्लीन स्वीप- श्रीलंका (1 बार)

 

आइए, अब एक नजर इन दोनों के बीच हुई सात वनडे सीरीज पर डाल लेते हैं।

 

पहली सीरीज में 1-1 से बराबरी

 

भारत ने पहली बार 1985-86 में श्रीलंका में तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली। यह सीरीज 1-1 से बराबरी पर रही। आखिरी मैच बारिश के कारण नहीं हो सका था। इस सीरीज में भारतीय बल्लेबाज दिलीप वेंगसरकर को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ का पुरस्कार मिला था।

 

श्रीलंका ने 2-1 जीती सीरीज

 

भारत का अगला श्रीलंकाई दौरा 1993 में रहा। यह भी तीन मैचों की वनडे सीरीज थी। भारत ने पहला मैच जीतकर बढ़त बना ली थी, लेकिन बाद के दोनों मैच मेजबान श्रीलंका ने अपने नाम कर सीरीज भी अपने नाम कर ली।

 

श्रीलंका ने 3-0 से किया क्लीन स्वीप

 

1997 में भारतीय टीम को फिर से तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलने का मौका मिला। पहले मैच में भारत केवल दो रनों से हार गया और कड़ी टक्कर दी थी, लेकिन बाद के दोनों मैच श्रीलंका ने आसानी से जीत लिए। पहली बार भारत का वनडे सीरीज में सूपड़ा साफ हुआ।

 

बारिश की वजह से नहीं हुई सीरीज 

 

भारत और श्रीलंका के मैचों में बारिश भी अक्सर विलेन का भूमिका निभाते आई है। हालांकि, इन देशों के बीच दौरे भी इसी समय में होते हैं, जब बारिश अपने चरम पर होती है। ऐसा ही 2006 में तीन मैचों की सीरीज में हुआ, जिसमें पूरी सीरीज में केवल 22 गेंदें ही की जा सकीं। इस वजह से पूरी सीरीज ही रद्द हो गई।

 

भारत की जीत की शुरुआत, 3-2 से जीती सीरीज

 

भारत ने आखिरकार 2008 में पहली बारी श्रीलंका में वनडे सीरीज जीती। महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी में भारत ने पांच मैचों की सीरीज का पहला मैच गंवाया। लेकिन इसके बाद जहीर खान और विराट कोहली जैसे खिलाड़ियों की बदौलत सीरीज में अविजित बढ़त ले ली। आखिरी मैच श्रीलंका ने अपने नाम कर इज्जत बचाई।

 

क्लीन स्वीप होने से बची श्रीलंकाई टीम

 

धौनी की कप्तानी में भारत ने 2008-9 में बड़े अंतर से श्रीलंकाई टीम को हराया। पांच मैचों की सीरीज में भारत ने शुरुआती चार मुकाबले तो जीत लिए थे और क्लीन स्वीप की राह पर थी, लेकिन आखिरी वनडे में श्रीलंकाई टीम को 68 रनों की जीत मिली और इस तरह वह सीरीज में एक मैच बचाने में सफल रही।

 

धौनी ने बनाया रिकॉर्ड, भारत ने दोहराया इतिहास

 

2012 में भारत फिर से धौनी के नेतृत्व में श्रीलंका आयाष पांच मैचों की सीरीज में जीत दर्ज कर धौनी श्रीलंका में लगातार 3 वनडे सीरीज अपने नाम करने वाले कप्तान बने। भारत ने सीरीज का पहला मैच तो अपने नाम किया, लेकिन दूसरे मैच में भारतीय बल्लेबाजी बिखर गई और टीम मैच हार गई। हालांकि, इसके बाद भारत ने श्रीलंका को कोई मौका नहीं दिया और सीरीज के आखिरी तीनों मैच जीतकर 4-1 से सीरीज जीती और पिछला कारनामा दोहरा दिया। इस सीरीज के ‘मैन ऑफ द सीरीज’ विराट कोहली चुने गए।

 

अब क्या हैं अनुमान

 

भारतीय टीम इस समय न सिर्फ अच्छी फॉर्म में है, बल्कि वनडे रैंकिंग में भी श्रीलंका से काफी ऊपर है। भारतीय टीम जहां तीसरे नंबर पर है तो श्रीलंकाई टीम आठवें नंबर पर है। भारतीय टीम के पास 20 साल बाद ऐसा मौका आया है कि वह 1997 में श्रीलंका में 0-3 से मिली हार का बदला इस सीरीज में क्लीन स्वीप करके चुका सकती है।

 

Courtesy: Jagran.com

Categories: Sports

Related Articles