5 दिन में दूसरा बड़ा रेल हादसा, लोग बोले- मोदी सरकार ‘रेल यात्रा’ करवा रही है या ‘अंतिम यात्रा’

5 दिन में दूसरा बड़ा रेल हादसा, लोग बोले- मोदी सरकार ‘रेल यात्रा’ करवा रही है या ‘अंतिम यात्रा’

मंगलवार देर रात आजमगढ़ से दिल्ली आ रही कैफियत एक्सप्रेस औरया के पास पटरी से उतर गई। कैफियत एक्सप्रेस के इंजन सहित 10 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस रेल हादसे में किसी भी यात्री के मृत्यु का कोई समाचार नहीं है। लेकिन, इसमें करीब 74 यात्री घायल हो गए है।

पांच दिन पहले उत्तर प्रदेश के खतौली के पास कलिंगा एक्सप्रेस भी दुर्घटना हो गई थी, जिसमें करीब 22 यात्रियों की मौत हो गई थी।

पांच दिन के भीतर दूसरी रेल दुर्घटना पर विपक्षी नेताओं के साथ-साथ आम लोग भी सरकार की जमकर आलोचना कर रहे हैं। रेल हादसों के प्रति रेलवे उदासीनता दिखाई दे रही है।

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ट्विटर से ही शिकायत के समाधान करने का दावा करते हैं। लेकिन, क्षतिग्रस्त रेल लाइनों और रेलवे लाइन पर हो रहे कार्यों की जानकारी भी आने वाली ट्रेन को नहीं दी जाती है। जिसके कारण रेल दुर्घटनाएं हो रही है।

 

पांच दिन में दूसरी रेल दुर्घटना पर एक ट्वीटर यूजर ने सरकार की आलोचना करते हुए लिखा कि, रेलयात्रा है या अंतिम यात्रा? अब अफसोस कुर्सी ने चिपकी बेशर्मी का भी है, आखिर इस्तीफा क्यों नहीं होगा? कुर्सी नीलामी में खरीदी है क्या?

भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी मोहम्मद कैफ ने प्रधानमंत्री के स्वतंत्रता दिवस पर दिए भाषण को कोट करते हुए लिखा कि, एक हफ्ते में दो रेल दुर्घटनाए और किसी की जिम्मेदारी है या नहीं। चलता है वाला दृष्टीकोण वाकई में काफी निराशाजनक है।

 

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles