योगीराज में जातिवाद चरम पर, दलितों का मंदिर से दूर रहने का फरमान जारी

योगीराज में जातिवाद चरम पर, दलितों का मंदिर से दूर रहने का फरमान जारी

उत्तरप्रदेश में जातिवाद अपने चरम पर नज़र आ रहा है| जातिवादी हिंसा और जातिवादी फरमान इसका उदाहरण हैं| उत्तर प्रदेश के हमीरपुर ज़िले के मौदाहा कस्बे के गदाहा गांव में रामायण पाठ के दौरान दलितों को मंदिर से दूर रहने के लिए कहा गया है।

मंगलवार को एक पुजारी ने मंदिर के बाहर अगले 10 दिनों तक रामायण पाठ के दौरान दलितों को दूर रहने के लिए नोटिस चिपका दिया। नोटिस में दलित समुदाय को चेतावनी दी गई थी कि पाठ के दौरान मंदिर में प्रवेश न करें। इस बात को लेकर इलाके में विवाद हो गया है|

दरअसल, जबसे उत्तरप्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है तब से जातिवाद राज्य में बढ़ता नज़र आ रहा है| कभी सहारनपुर में दलितों के घर जलाएं जा रहे है तो कभी इस तरह के जातिवादी फरमान सामने आ रहे हैं|

 

एक तरफ अम्बेडकर मेमोरियल में भाषण देते समय हमारे प्रधानमंत्री बाबा साहेब अम्बेडकर के सपनों को पूरा करने की बात करते है दूसरी तरफ उनकी ही पार्टी द्वारा शासित राज्य में इस तरह के मामलें सामने आ रहे हैं| ये स्थिति अम्बेडकर के सपनों का नहीं बल्कि मनुस्मृति के सपनों का हिस्सा लगती है|   

Courtesy: boltahindustan

Categories: Politics

Related Articles