UP बेहाल है, बेटियां काटी जा रही हैं, बच्चें मर रहे हैं और CM योगी भगवा रंग से हेलीकॉप्टर की सीटें रंगवा रहे हैं

UP बेहाल है, बेटियां काटी जा रही हैं, बच्चें मर रहे हैं और CM योगी भगवा रंग से हेलीकॉप्टर की सीटें रंगवा रहे हैं

भगवा रंग जिसे त्याग का प्रतीक माना जाता था। उसे वर्तमान राजनीति और देश में चल रहे माहौल के कारण कट्टरता और डर का प्रतीक माना जाने लगा है। इसलिए लोग चाह रहे हैं कि वो इस रंग के प्रयोग से बचे और समाज को कट्टरता का सन्देश देने की बजाए भाईचारे का सन्देश दें।

लेकिन अभी बहुत से लोग हैं जो अपनी कट्टर छवि को और कट्टर बनाने लिए ज़्यादा से ज़्यादा इसी रंग का प्रयोग कर रहे हैं। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गिनती भी ऐसे ही लोगों में होती है। उनके कपड़ों से लेकर उनके प्रयोग की ज़्यादातर वस्तुएं इसी रंग की दिखती हैं।

यहाँ पर सवाल ये भी है कि जिस देश का संविधान अपनी प्रस्तावना में ही धर्मनिरपेक्षता की बात करता हो वहाँ के सबसे ज़्यादा जनसंख्या वाले राज्य के मुख्यमंत्री का इस तरह के रंग के प्रयोग से एक कट्टर सन्देश देना कितना सही है?

इसलिए कट्टरवादिता का विरोध करने वाले और धर्मनिरपेक्षता और भाईचारे में विश्वास रखने वाले लोग योगी का विरोध कर रहे हैं।

योगी बाढ़ प्रभावित इलाके का हवाई जायज़ा लेने पहुंचे लेकिन उनके कपड़ों से लेकर उनके बैठने वाली कुर्सी भी भगवा दिखाई दे रही है। इसपर लोगों ने योगी का विरोध किया और अब ये विरोध सोशल मीडिया पर भी दिखाई देने लगा है।

इस ट्विटर यूज़र ने कटाक्ष करते हुए लिखा है कि, “इस बाबा को सिर्फ भगवा पसंद है , यहां तक की हरी सब्जी को भी भगवा रंग में रंग के ग्रहण करता हैं “|

Courtesy: boltahindustan.

 

Categories: Politics

Related Articles