राम रहीम कांड: बीजेपी अध्यक्ष ने भक्तों के उत्पात के लिए जज को ही ठहरा दिया जिम्मेदार

राम रहीम कांड: बीजेपी अध्यक्ष ने भक्तों के उत्पात के लिए जज को ही ठहरा दिया जिम्मेदार

नई दिल्ली। दो साध्वियों से बलात्कार के दोषी गुरमीत राम रहीम के मामले में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का पहला बयान सामने आया है। राम रहीम के भक्तों को रोकने में नाकाम खट्टर सरकार का शाह ने बचाव किया है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पंचकुला की सीबीआई कोर्ट ने अपने खास स्वयंभू संत बाबा राम रहीम सिंह को बलात्कार के मुकदमें में दोषी ठहराए जाने के बाद शुक्रवार (25 अगस्त) को भड़की हिंसा के लिए खट्टर को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है।

समाचार पत्र ‘शांतिदूत’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पत्रकारों से बातचीत करते हुए शाह ने कहा कि इस हिंसा के लिए किसी को भी दोषी नहीं ठहराया जाना चाहिए। इसके लिए कोई और नहीं सिर्फ और सिर्फ वहीं जज हैं जिसने हिंसा की आशंकाओं एवं चर्चाओं की चिंता किए बिना ही बाबा के दोषी होने का फैसला सुना दिया।

clip

 

शाह ने कहा कि डेरा प्रमुख को किसी भी प्रकार की सजा दिए जाने का विरोध करने के लिए विरोध करने के लिए पंचकुला पहुंचे रहे समर्थकों की उन्मादी भीड़ को मद्देनजर रखते हुए जज महोदय को तनाव कम करने के उद्देश्य से फैसले को आगे खिसका सकते थे।

clip

रिपोर्ट के मुताबिक, हालांकि शाह ने अपने बयान को ज्यादा स्पष्ट नहीं किया किंतु मीडिया को अलग से जानकारी दी कि राम रहीम के फैसले से पांच दिन पहले जज महोदय के पास हरियाणा सरकार ने एक दूत भेजा था।

 

बता दें कि इससे पहले भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने भी कोर्ट को ही दोषी ठहरा दिया था। साक्षी महाराज ने कहा था कि भारतीय संस्कृति के खिलाफ षड़यंत्र रचा जा रहा है। इसी तरह भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने बलात्कार के आरोपी राम रहीम का बचाव करते हुए कहा था कि विराट हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है।

वहीं बलात्कारी राम रहीम की बेटी ने एक स्थानीय टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि वोटों के बदले केस हटाने के लिए भाजपा से डील हुई थी। जिसके बाद से सोशल मीडिया पर भाजपा की चारों आोर आलोचना हो रही है।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles