ब्लू व्हेल’ से पांचवीं मौत: यूपी में गेम खेल रहे 13 साल के स्टूडेंट ने फांसी लगाई

ब्लू व्हेल’ से पांचवीं मौत: यूपी में गेम खेल रहे 13 साल के स्टूडेंट ने फांसी लगाई
हमीरपुर.इंटरनेट गेम ‘ब्‍लू व्‍हेल’ की वजह से भारत में सुसाइड का पांचवां मामला सामने आया है। यूपी के हमीरपुर में 13 साल के स्टूडेंट ने पंखे से लटकफर फांसी लगा ली। बताया जा रहा है कि ब्लू व्हेल के टास्क पूरा करने के लिए उसने ये कदम उठाया है। पेरेंट्स उसे हॉस्प‍िटल ले गए, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। बता दें कि अब तक महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल और केरल में स्टूडेंट सुसाइड कर चुके हैं। पुणे और इंदौर जैसे शहरों से भी बच्चों के ब्लू व्हेल के झांसे में आने की खबरें आई हैं। रूस में बना ये गेम भारत समेत चीन, अमेरिका और कई देशों में गेम 130 से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है। गेम में 50 दिनों का टास्क दिया जाता है और आखिर में सुसाइड जैसा कदम उठाना होता है। पिता ने कहा- सुसाइड से पहले गेम खेल रहा था…
– जानकारी के मुताबिक, यहां के मौदहा कस्बे में रहने वाले विक्रम सिंह का इकलौता बेटा पार्थ (13 साल) जयपुरिया स्कूल में 7th क्लास में पढ़ता था। रविवार शाम को पार्थ पापा के मोबाइल में ब्लू व्हेल गेम खेल रहा था। इसी दौरान अचानक कमरे में गया और बेड के ऊपर कुर्सी रखकर गमछे के सहारे पंखे से लटक गया।
– पेरेंट्स ने कुछ देर बाद पार्थ को आवाज लगाई। जब वह घर में नहीं मिला तो विक्रम उसके कमरे में पहुंचे। जहां वो बेटे को फंदे पर लटका देख दंग रह गए। फौरन उसे नीचे उतारकर हॉस्पिटल ले गए, लेकिन डॉक्टर्स ने पार्थ को डेड बताया।
– विक्रम ने पुलिस को बताया कि कुछ दिनों से पार्थ मोबाइल पर गेम खेल रहा था। उसे कई बार टोका और डांटा। इसके बाद वो चोरी-छिपे गेम खेलने लगा। रविवार को उसे दोस्त की बर्थडे पार्टी में जाना था, जिसके लिए सुबह से ही तैयारी कर रहा था। मां उसके लिए मिठाई बना रही थी, लेकिन इसके पहले ही बेटे ने सुसाइड कर लिया।
क्या कहना है पुलिस का?
– इंस्पेक्टर प्रमेंद्र सिंह ने बताया, ”मौके से मोबाइल फोन बरामद हुआ है। फिलहाल मौत के पीछे गेम खेलने की बात सामने आई है। मामले की जांच की जा रही है। हालांकि, बच्चे की बॉडी पर किसी तरह का कोई निशान नहीं मिला।”
केंद्र ने गेम को लेकर राज्यों को ऑर्डर दिए
– जानलेवा ब्लू व्हेल गेम को लेकर केंद्र सरकार ने राज्यों को निर्देश दिए हैं। इसके मुताबिक, इस गेम और दूसरे ऑनलाइन गेम्स को खेलने और खिलाने वाले पर पुलिस एक्शन लेगी। गेम खिलाने वाले एडमिनिस्ट्रेटर पर एफआईआर दर्ज कर उसे जेल भेजा जाएगा।
– बता दें, बीते 22 अगस्त को दिल्ली हाईकोर्ट ने फेसबुक, गूगल, याहू और केंद्र सरकार को शो कॉज नोटिस जारी किया था। कोर्ट ने ब्लू व्हेल गेम के लिंक्स तुरंत हटाने के लिए इंटरनेट कंपनियों को ऑर्डर देने की मांग करने वाली पिटीशन पर केंद्र और दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा। कंपनियों को कोर्ट में जवाब देना है कि उन्होंने ब्लू व्हेल को रोकने के लिए क्या कदम उठाए। अगली सुनवाई 19 सितंबर को होनी है।
# ब्लू व्हेल गेम नहीं एक ट्रैप (जाल)
– टीन एजर्स गेम मानकर ब्लू व्हेल के जाल में फंस रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर ब्लू व्हेल ऐप तलाशे जा रहे हैं, लेकिन असल में यह न तो गेम है और न ही ऐप है। यह अपराधी किस्म के लोगों का एक ट्रैप (जाल) है, जो दुनियाभर में अब तक 130 से ज्यादा लोगों की जान ले चुके हैं। नासमझी में बच्चे इसके आसानी से शिकार बन रहे हैं।
– ‘ब्लू व्हेल’ के पीछे दिमाग है मास्को (रूस) के फिलिप बुडेईकिन का। उसे गिरफ्तार किया जा चुका है और वह तीन साल की सजा काट रहा है। गेम से पहली मौक का मामला 2015 में आया था। गिरफ्तारी के बाद फिलिप ने कहा था, ”गेम का मकसद समाज की सफाई करना है। फिलिप की नजर में सुसाइड करने वाले सभी लोग ‘बायो वेस्ट’ थे।”
# खतरनाक गेम से जुड़े 4 मामले
1. स्टूडेंट ने सिर को प्लास्टिक बैग से ढंक लिया, मौत
– 13 अगस्त को पश्चिम बंगाल के वेस्ट मिदनापुर के आनंदपुर कस्‍बे के रहने वाले अंकन डे की बॉडी बाथरूम में मिली। काफी देर तक बाहर नहीं आने पर फैमिली मेंबर्स ने दरवाजा तोड़ा तो देखा कि अंकन फर्श पर पड़ा था।
– अंकन ने अपने सिर को प्लास्टिक बैग में ढंक लिया और गर्दन के पास बैग को कसकर बांध लिया था। दम घुटने की वजह से उसकी मौत हो गई। उसके दोस्‍तों ने बाद में बताया कि अंकन ‘ब्‍लू व्‍हेल चैलेंज’ गेम खेल रहा था। वह 10th क्लास में पढ़ता था।
2. मुंबई में स्टूडेंट ने हाईराइज बिल्डिंग से छलांग लगाई
– 30 जुलाई को मुंबई के अंधेरी ईस्ट की शेर-ए-पंजाब कालोनी में 14 साल के मनप्रीत सिंह साहनी ने 5 मंजिला इमारत से कूदकर जान दे दी। बताया गया कि उसने ‘ब्लू व्हेल’ गेम का टास्क पूरा करने के लिए यह कदम उठाया था।
– मनप्रीत ने 9th क्लास के अपने दोस्त को मैसेज भेजा था गेम का टास्क पूरा करने के लिए ‘मैं बिल्डिंग से कूद रहा हूं।’
3. जब ‘ब्लू व्हेल गेम’ का टास्क पूरा करने लड़के ने छोड़ा घर
– दरअसल, 10-11 अगस्त को महाराष्ट्र के सोलापुर में 14 साल का बच्चा ब्लू व्हेल गेम का स्टेज पूरा करने घर छोड़कर पुणे जा रहा था।
– माता-पिता के लिए छोड़े नोट में बच्चे ने लिखा था, ‘मैं पुणे जा रहा हूं। मेरी लौटने की कोई योजना नहीं है।’ हालांकि, समय रहते पुलिस ने उसे ढूंढ लिया था।
4. आखिरी चैलेंज परा करने तीसरी मंजिल से कूदने लगा
– 10 अगस्त को मध्य प्रदेश के इंदौर में गेम का आखिरी चैलेंज पूरा करने के लिए 7th का स्टूडेंट स्कूल की तीसरी मंजिल से कूदने लगा। लेकिन दोस्तों ने उसे खींचकर बचा लिया।
– उसने दोस्तों के कहा था कि आज आखिरी टास्क है, मुझे छत के ऊपर से कूदकर जान देना है। दोस्तों ने बताया कि वह चलती वैन से कूदकर जान देने की बात कह रहा था। प्रेयर के दौरान भी वह अजीब सा बर्ताव कर रहा था। तभी से हम उस पर ध्यान दे रहे थे। पिता ने बताया कि उनके फोन पर वह 50 दिन से यह गेम खेल रहा था।
Courtesy: Bhaskar.com
Categories: Crime