श्मशान-कब्रिस्तान करने वालों से अखिलेश यादव का सवाल, हिंदू बच्चे मर रहे हैं अब क्यों नहीं मदद कर रहे हो ?

श्मशान-कब्रिस्तान करने वालों से अखिलेश यादव का सवाल, हिंदू बच्चे मर रहे हैं अब क्यों नहीं मदद कर रहे हो ?

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आज आज़मगढ़ के नत्थूपुर में आयोजित ‘शहीद मेला’ में शामिल हुए। यहाँ उन्होंने शहीद जवान रामसमुझ यादव की प्रतिमा का अनावरण किया और शहीद जवानों के परिवार वालों को सम्मानित किया।

इस साधारण समारोह में अखिलेश यादव ने कहा, ‘सेना में जितने जवान हैं वो सब हमारे गावों के सपूत हैं। हमारे किसान खेती कर रहे हैं और उसके बेटे सीमा पर हमारी रक्षा कर रहे हैं, यही हमारे देश की ताकत है’।

अखिलेश ने यहां सभा को संबोधित करते हुए कहा, हम आपसे (सरकार) कहते हैं गोरखपुर में ज़्यादातर बच्चे हिन्दू मरे हैं, बताओ तुमने कितने बच्चों की मदद कर दी है।

आपको बता दें, पुंछ में शहीद जवान प्रेम सागर की शहादत के बाद यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी उनके परिवारवालों से मिलने देवरिया पहुंचे थे, जहाँ उनके पहुँचने से पहले शहीद के घर पर एसी, मिनरल वाटर, कारपेट से लेकर सोफे तक का इंतजाम कर दिया गया था। यही नहीं, घर की दीवारों की रंगाई तक हुई थी। लेकिन, जैसे ही मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी वहां से गए, उसके आधे घंटे के बाद ही सब कुछ हटा लिया गया।

ये सोचने वाली बात है कि एक मुख्यमंत्री शहीद के घर जाता है तो उसके लिए तमाम सुख-सुविधायें मुहैया करवा दी जाती हैं तो दूसरी तरफ यही मौजूदा मुख्यमंत्री बाढ़ निरिक्षण करने जाते हैं तो उनके पैर गंदे न हो इसीलिए उनके लिए ‘ग्रीन कारपेट’ बिछा दिया जाता है। जबकि मुख्यमंत्री का दायित्व जनता की परेशानियों को दूर करना होता है उनके यहाँ जाकर सुख भोगना नहीं होता।

Categories: Politics

Related Articles