IND-SL 4th वनडे आजः धोनी खेलेंगे 300वां मैच, बना सकते हैं 2 वर्ल्ड रिकॉर्ड भी

IND-SL 4th वनडे आजः धोनी खेलेंगे 300वां मैच, बना सकते हैं 2 वर्ल्ड रिकॉर्ड भी
भारत और श्रीलंका के बीच सीरीज का चौथा वनडे कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में आज दोपहर 02.30 बजे से खेला जाएगा। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया पहले ही सीरीज में 3-0 की अपराजेय बढ़त ले चुकी है। ऐसे में अब उसकी नजर क्लीन स्वीप करने के लिए इस मैच को जीतने पर होगी। वहीं लगातार चोटिल हो रहे प्लेयर्स और बेहद खराब प्रदर्शन के लिए आलोचनाओं का सामना कर रही श्रीलंकाई टीम अपना सम्मान बचाने के लिए उतरेगी। उधर, वनडे सीरीज के चौथे मैच में श्रीलंकाई टीम की कप्तानी फास्ट बॉलर लसिथ मलिंगा करेंगे। धोनी के सामने हैं ये दो वर्ल्ड रिकॉर्ड…
 – ये मैच धोनी के वनडे करियर का 300वां मैच होगा और इसे खेलते ही वे करियर में इतने वनडे खेलने वाले भारत के छठे क्रिकेटर बन जाएंगे।
– धोनी के अलावा भारत से सचिन तेंडुलकर (463), राहुल द्रविड़ (344), मो. अजहरुद्दीन (334), सौरव गांगुली (311) और युवराज सिंह (304) वनडे की ट्रिपल सेन्चुरी लगा चुके हैं।
– इस मैच को खेलते वक्त धोनी के निशाने पर दो वर्ल्ड रिकॉर्ड होंगे। मैच में एक और स्टम्पिंग करते ही वनडे करियर में उनकी 100 स्टम्पिंग पूरी हो जाएंगी।
– वनडे हिस्ट्री में स्टम्पिंग की सेन्चुरी लगाने वाले वे दुनिया के पहले विकेटकीपर होंगे। फिलहाल वे 99 स्टम्पिंग के साथ श्रीलंका के कुमार संगाकारा के साथ टॉप पर हैं।
– चौथे वनडे में धोनी नॉट आउट रहते हुए भी एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बना सकते हैं। वनडे करियर में वे अबतक 72 बार नॉटआउट रहे हैं और फिलहाल इस मामले में साउथ अफ्रीका के शॉन पोलाक और श्रीलंका के चामिंडा वास के साथ टॉप पर हैं।
– धोनी अगर इस मैच में भी नॉट आउट लौटते हैं, तो वे वनडे क्रिकेट की हिस्ट्री में सबसे ज्यादा बार नॉट आउट रहने वाले क्रिकेटर बन जाएंगे।
– इस सीरीज के दूसरे और तीसरे मैच में धोनी नॉट आउट रहे थे, और दोनों ही मैचों में उन्होंने टीम इंडिया के लिए मैच विनिंग इनिंग खेली।
– धोनी ने अपने वनडे करियर में अबतक 299 मैच खेलकर 10 सेन्चुरी और 65 फिफ्टी लगाते हुए 9608 रन बनाए हैं इस दौरान उनका एवरेज 51.93 का रहा।
चौथे वनडे में मेजबान को मिलेगा तीसरा कप्तान
– वनडे सीरीज के चौथे मैच में श्रीलंकाई टीम की कप्तानी फास्ट बॉलर लसिथ मलिंगा करेंगे। उन्हें कार्यवाहक कप्तान चमारा कपुगेदरा के सीरीज से बाहर होने के बाद टीम की कप्तानी सौंपी गई है।
– बता दें सीरीज में ये तीसरा मौका है जब मेजबान टीम का कप्तान बदला गया है। पहले दो मैचों में उपुल थरंगा ने कप्तानी की थी, लेकिन दूसरे वनडे में धीमे ओवररेट की वजह से उन पर दो मैचों का बैन लग गया।
– इसके बाद अगले दो वनडे के लिए चमारा कपुगेदरा को कप्तानी दी गई। लेकिन तीसरे मैच के दौरान वे चोटिल हो गए, जिसकी वजह से वे सीरीज से बाहर हो गए हैं। ऐसे में लसिथ मलिंगा को टीम की कप्तानी सौंपी गई है।
भारत की नजर क्लीन स्वीप पर
– भारत ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका को 3-0 से क्लीन स्वीप किया था और अब वो वनडे सीरीज में भी इस अचीवमेंट से केवल दो मैच दूर है। दूसरी ओर श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज के बाद वनडे सीरीज में भी लगातार हार रही है।
– वर्ल्ड कप 2019 में सीधे क्वालिफाई करने के लिए श्रीलंका को इस सीरीज में कम से कम दो मैच जीतना जरूरी है, लेकिन घरेलू मैदान पर खेलने के बाद भी वो अबतक दो मैच नहीं जीत सकी है।
– पिछले दो मैचों में धनंजय अकीला ने इंडियन बैट्समैन को जमकर परेशान किया है। ऐसे में अकीला का सामना करने के लिए मेहमान टीम बेहतर रणनीति के साथ उतर सकती है। उधर फास्ट बॉलर लसिथ मलिंगा और विश्वा फर्नांडो भी भारतीय बैट्समैन को लगातार परेशान कर रहे हैं।
– श्रीलंका का बैटिंग लाइनअप बहुत कमजोर होने की वजह से उनके बॉलर्स कुछ नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में शुरुआती तीन मैचों की तरह इंडियन बॉलर्स की कोशिश होगी कि मेजबान टीम के प्लेयर्स को जल्दी से वापस भेजें।
श्रीलंका के प्लेयर्स लगातार हो रहे चोटिल
– श्रीलंकाई प्लेयर्स के लगातार चोटिल होने का सिलसिला जारी है। टेस्ट कप्तान दिनेश चांडीमल और पिछले वनडे में कप्तानी करने वाले चमारा कपुगेदरा भी चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए हैं।
– चांडीमल को पिछले मैच के दौरान हाथ में लगी चोट के बाद हेयरलाइन फ्रैक्चर हो गया, वहीं कार्यवाहक कप्तान चमारा कपुगेदेरा बैक प्रॉब्लम की वजह से सीरीज के बाकी दोनों मैच नहीं खेल सकेंगे।
– अबतक 5 श्रीलंकाई प्लेयर सीरीज से बाहर हो चुके हैं। दानुष्का गुनाथिलका, कुशल परेरा और असेला गुणारत्ने भी अलग-अलग चोटों की वजह से सीरीज से बाहर हो चुके हैं।
टीम इंडिया में हो सकते हैं बदलाव
– भारतीय टीम पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की बढ़त लेने के साथ ही सीरीज जीत चुकी है, ऐसे में अब भारतीय कप्तान अपनी बेंच स्ट्रैंथ को चेक कर सकते हैं।
– टीम में कई ऐसे प्लेयर्स हैं जिन्हें अबतक वनडे सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला है, वहीं पिछले तीन मैचों में प्लेइंग इलेवन में रहने के बाद भी कई प्लेयर्स परफॉर्म नहीं कर सके हैं।
– विराट वनडे सीरीज में अब तक परफॉर्म नहीं करने वाले प्लेयर्स को बाहर बैठाकर, उनकी जगह नए प्लेयर्स को खेलने का चांस दे सकते हैं। वैसे भी टीम इंडिया की नजर 2019 में होने वाले वर्ल्ड कप पर है और उसके लिए टीम में परफॉर्म करने वाले प्लेयर्स का होना ही जरूरी है।
Courtesy: Bhaskar.com
Categories: Sports