मोदी सरकार ने अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए किया मंत्रीमंडल में फेरबदल- मायावती

मोदी सरकार ने अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए किया मंत्रीमंडल में फेरबदल- मायावती

नई दिल्ली। मोदी कैबिनेट में फेरबदल को लेकर सवाल उठ रहे हैं। फेरबदल को लोगों ने विफलता छुपाने के लिए मोदी सरकार द्वारा उठाया गया कदम बताया है। बीएसपी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी पीएम पर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा अपने मंत्रिमण्डल में किया गया फेरबदल वास्तव में ग़रीबी दूर करने व रोजगार के अवसर पैदा करने के बजाय बेरोजगारी बढ़ाने जैसी ज्वलंत समस्याओं से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है।

 

साथ ही यह फेरबदल गंगा की सफाई करके गंगा माता व देश की करोड़ों जनता को किये गये चुनावी वायदों को पूरा करने में बुरी तरह से विफलता पर से लोगों का ध्यान बाँटने का प्रयास है।

मायावती ने कहा, ”सरकार गंगा संरक्षण व नदी विकास के बहु-प्रचारित मामले में अपार सरकारी धन खर्च करने के बावजूद गंगा को स्वच्छ बनाने में जनता की आशा व अपेक्षा के अनुरूप बिल्कुल भी काम नहीं कर पाई।

गरीबी उन्मूलन, सामाजिक न्याय व जनहित एवं जनकल्याण के कई अन्य महत्त्वपूर्ण मामलों में अपनी सरकार की विफलता तथा सरकार की गलत व गरीब-विरोधी आर्थिक नीतियों व कार्यप्रणाली के कारण देश की आमजनता में मोदी सरकार के खिलाफ जो व्यापक निराशा व आक्रोश है उस पर से लोगों का ध्यान बाँटने के लिये यह नई नाटकबाजी करने की कोशिश की गई है।

 

इसके अन्तर्गत राजनीतिज्ञों से ज्यादा रिटायर अफसरशाहों पर ज्यादा भरोसा किया गया है। साथ ही इस विस्तार में आरएसएस के संकीर्ण एजेण्डे को भी बढ़ावा देने का प्रयास किया गया है, हालाँकि केन्द्र सरकार की इस प्रकार की गलत नीतियों व कार्यप्रणालियों से पूरे देश में शान्ति व सद्भावना के साथ-साथ विकास का माहौल भी लगातार बिगड़ रहा है।”

उन्होंने आगे कहा कि दरअसल मोदी मंत्रिमण्डल में व्यापक फेरबदल बीजेपी में जारी उस भारी तनाव व गिरावट को भी दर्शाता है जो एनडीए गठबंधन में जारी तनाव व बिखराव से इस पार्टी में जारी है।

 

Courtesy: nationaldastak

Categories: Politics

Related Articles