मोदी सरकार के पर्यटन मंत्री का बयान, कहा- केरल में गोमांस खाया जाता था और आगे भी जारी रहेगा

मोदी सरकार के पर्यटन मंत्री का बयान, कहा- केरल में गोमांस खाया जाता था और आगे भी जारी रहेगा

बीफ को लेकर अब भाजपा की दोहरी नीति सामने आ रही है| केंद्र सरकार में नवनियुक्त पर्यटन मंत्री बने अल्फोंस कन्ननथनम ने कहा है कि केरल में लोग बीफ खाते रहेंगें|

उन्होंने आगे कहा कि देश में कोई फूड इमरजेंसी लागू नहीं है| लोगों के खाने पर कोई पाबन्दी नहीं लगाई जाएगी, वो सुनिश्चित करेंगें की उन्हें क्या खाना है|

ये उसी सरकार के मंत्री का बयान है जिसके मंत्री पहले बीफ खाने वालों को देश निकाला देने की बात कह चुके हैं| अब सवाल ये है कि क्या अल्फोंस कन्ननथनम को भी देश निकाला दिया जाएगा?

बता दें कि बीफ और गौहत्या को लेकर देश में माहौल गरमाया हुआ है| पिछले तीन साल में गाय के नाम पर होने वाली हिंसा बढ़ी है, और कहा ये जा रहा है कि भाजपा कथित तौर पर इस हिंसा को समर्थन दे रही है|

केंद्र मंत्री का ये बयान उस दोहरी राजनीति को सामने लाता है जो अक्सर वोटबैंक के लिए खेली जाती है| ये बात जगज़ाहिर है कि भाजपा गौहत्या को अपराध बताती रही है, यहा तक कि कुछ भाजपा शासित राज्यों में गायों की हत्या रोकने के लिए विभाग भी बने हैं| लेकिन अब ये बयान ये बात साफ़ करता है कि भाजपा लोगों की धार्मिक भावनाओं का फायदा उठाकर वोट जमा कर रही है इसीलिए कही उसके मंत्री गाय बचाओं अभियान चलते हैं तो कही बीफ का वादा करते हैं|

ये पहली बार नहीं है जब भाजपा ने केरल में गौहत्या को बढ़ावा दिया है| बतादे कि इससे पहले केरल में लोकसभा उपचुनाव के समय भाजपा उमीदवार श्रीप्रकाश ने कहा था कि अगर जनता उन्हें चुनती है तो वो अच्छी गुणवत्ता का बीफ वहा देंगे|

गौरतलब है कि केरल उन 9 राज्यों में से एक है जहाँ गौमास खाने पर प्रतिबन्ध नहीं है और हिन्दू समाज का भी बड़ा तबका यहाँ गौमास खाता है|

Courtesy: boltahindustan

Categories: India
Tags: BJP, Modi

Related Articles