प्रेम संबंधों के चलते आगरा में बेटी की हत्या, लाश फूंकी

प्रेम संबंधों के चलते आगरा में बेटी की हत्या, लाश फूंकी

आगरा  ताजगंज के कोटली बगीची में रविवार रात झूठी आन की खातिर बेटी की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। परिजनों ने युवती को यातनाएं देने के बाद मार डाला और फिर लाश फूंक दी। प्रेमी की सूचना पर पुलिस पहुंची, तब तक परिजन घर से फरार हो गए।

कोटली बगीची में गायत्री गार्डन के पास रहने वाली बीएससी की छात्रा नंदिनी चाहर पुत्री भरतवीर सिंह के मथुरा के लक्ष्मीनगर निवासी भूपेंद्र ठाकुर से प्रेम संबंध थे। दो साल से वे लगातार फोन पर संपर्क में थे और कई बार मिल चुके थे, लेकिन युवती के परिजनों को ये सब मंजूर नहीं था। दो सितंबर को युवती घर से निकल गई, चार सितंबर को वह प्रेमी के पास मथुरा पहुंची।

प्रेमी ने उसे शादी करने की बात कहकर समझाया और लौटा दिया, तभी से परिजन उसको टॉर्चर कर रहे थे। दो दिन पहले नंदिनी ने प्रेमी भूपेंद्र को फोन पर इसकी जानकारी दी। रविवार रात 10.30 बजे किसी ने भूपेंद्र को नंदिनी की हत्या की जानकारी फोन पर दी। उसने यह भी बताया कि अब परिजन लाश जलाने ले जा रहे हैं।

प्रेमी ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। सीओ सदर उदयराज सिंह, इंस्पेक्टर ताजगंज राजा सिंह पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गए। युवती के घर के दरवाजे खुले थे, लेकिन घर में कोई नहीं था। महिलाएं और बच्चे भी भगा दिए थे। पुलिस ने श्मशान घाट जाकर देखा, तो युवती का शव 95 फीसद जल चुका था। चिता पर पानी डालकर पुलिस ने आग बुझाई और शव के अवशेष कब्जे में ले लिए।

इंस्पेक्टर उदयराज सिंह ने बताया कि परिजन घर से फरार हैं। आशंका है कि उन्होंने युवती की हत्या की है। पुलिस अपनी ओर से सभी घरवालों के खिलाफ हत्या और सुबूत मिटाने का मुकदमा दर्ज करेगी। उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

छह दिन से लगा रहे थे करंट: युवती के प्रेमी भूपेंद्र ने जागरण को फोन पर बताया कि नंदिनी के पास मोबाइल नहीं था। उसने किसी के मोबाइल से दो दिन पहले फोन किया था। बताया था कि मथुरा से लौटकर घर पहुंचने के बाद परिवार वाले उसे पीट रहे हैं। उसके भाई और ताऊ के बेटे उसे टॉर्चर कर रहे हैं। हाथ-पैर बांधकर उसको डंडों से पीटते हैं और करंट भी लगाया जाता है। उसने यह भी आशंका जताई थी कि परिजन उसे मार डालेंगे।

जाति की बाधा में दुश्मन बने थे परिजन: युवती जाट समाज से थी और उसका प्रेमी ठाकुर समाज से। दोनों की जाति अलग होने कारण युवती के परिजन शादी को तैयार नहीं थे। हालांकि युवक के परिजन अब शादी को तैयार थे।

 

पड़ोसियों के मुंह पर भी ताला: घटना के बाद पुलिस जब कोटली बगीची पहुंची, तो कोई बोलने को तैयार नहीं था। सभी पुलिस को देखकर घरों में घुस गए। एक महिला ने बताया कि लड़की ने खुदकशी कर ली है। इसलिए परिवार वालों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

Courtesy:  Jagran.com

Categories: Crime