देश की डूबती अर्थव्यवस्था पर अमित शाह का बयान, मोदी सरकार नहीं तकनीकी वजह है जिम्मेदार

देश की डूबती अर्थव्यवस्था पर अमित शाह का बयान, मोदी सरकार नहीं तकनीकी वजह है जिम्मेदार

मोदी सरकार पहले तो नोटबंदी करके अर्थव्यवस्था से पूरी तरह से खेलती है, उसके बाद जीडीपी में आई भारी गिरावट पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान से तो ऐसा लग रहा है कि ये न तो अपनी गलतियां मानने वाले हैं और न ही सुधार करने वाले।

पिछली तिमाही में जीडीपी इंडेक्स में भारी गिरावट को तकनीकी वजह बताकर किनारा कर लेने वाले अमित शाह यूपीए सरकार के भी किसी 1 साल के कम जीडीपी के आंकड़े पेश करके खुद की सरकार को सही साबित करने में लगे थे । इस बार अप्रैल से लेकर जून तक जीडीपी ग्रोथ 5.7 प्रतिशत दर्ज की गई है जो पिछली बार के 7.9% के मुकाबले 2.2 प्रतिशत कम है।

दिल्ली स्थित फिक्की में उद्योगपतियों को संबोधन के दौरान अमित शाह कहते हैं कि 2013-14 में ,यानी कि यूपीए के आखिरी साल अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट आई थी । उसके बाद हमने ही स्थिति बेहतर की है।

अब सवाल यह उठता है कि जिस बार जीडीपी में भारी गिरावट आई वह यूपीए का आखरी साल हो गया तो क्या अब यह एनडीए सरकार का आखिरी दौर चल रहा है? क्योंकि देश भर की अर्थव्यवस्था जिस तरह से चरमराई हुई है अब बातें छुपा नहीं पा रही हैं। यहां तक कि वित्त मंत्री अरुण जेटली को भी स्वीकारना पड़ा कि हां पिछली तिमाही में जीडीपी के आंकड़े चिंताजनक हैं।

Courtesy: boltahindustan

Categories: India

Related Articles