शर्मनाक : छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार में खुले में शौच करने वालों को जानवरों की गाड़ी में डालकर घुमाया

छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार तानाशाह रवैय्ये पर उतर आई है। सरकारी अभियानों का हिस्सा बनने के लिए लोगों को मजबूर के साथ-साथ बेईज्जत किया जा रहा है।

स्वच्छ भारत अभियान के तहत हुए कार्यों का जायज़ा लेने केन्द्र की टीम छत्तीसगढ़ के बिलासपुर आने वाली है। केन्द्रीय टीम के आने से पहले बिलासपुर नगर निगम शहर को ओडीएफ (खुले में शौच मुक्त) घोषित करने अभियान चला रहा है।

बिलासपुर को ओडीएफ घोषित कराने के लिए नगर निगम अमला खुले में शौच करने वालों पर अलग—अलग तरीके से अनैतिक कार्रवाई कर रहा है। इसके तहत खुले में शौच करने वालों को कैचरगाड़ी में भरकर पूरे शहर में उनकी नुमाइश करी जा रही है। इस गाड़ी में जानवरों को ले जाया जाता है|

खुले में शोच को रोकना एक अच्छा अभियान है जिससे जनता को ज़रूर जोड़ना चाहिए। लेकिन इस तरह से किसी को भी किसी भी काम के लिए मजबूर करना अलोकतांत्रिक है। ये करवाई एक लोकतान्त्रिक सरकार की नहीं बल्कि एक तानाशाही सरकार की लगती है।

इस तरह के अभियानों को जनता से जोड़ने के लिए जनता को सूचित कर, लाभों के बारे में शिक्षित कर, फिर उसे व्यवहारिक रूप से लागू किया जाता है। UNESCO जैसे बड़े वैश्विक संगठन भी इसी तरह लोगों को अपने अभियानों में जोड़ते हैं।

लेकिन एसा लगता है कि छत्तीसगढ़ की सरकार स्वच्छता नहीं सिर्फ आकड़े पूरे करना चाहती है। इसीलिए इस बर्ताव के आलावा स्कूलों के छात्र-छात्राओं सहित शिक्षक व स्टाफ से संकल्प पत्र भरवाया जा रहे हैं। इस संकल्प पत्र में स्पष्ट उल्लेख है कि मैं और मेरे परिवार का कोई भी सदस्य वार्ड या नगर निगम के सीमा क्षेत्र में खुले में शौच नहीं जाते। पत्र का पहले से ही फार्मेट सेट है। इस संकल्प पत्र में नाम, पता और हस्ताक्षर के अलावा कोई और विकल्प नहीं है।

इन बातों से साफ़ दीखता है कि योजनाओं और अभियानों की सफलता के नाम छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार केवल कागज़ भर रही है। लोगों के सही तरीके से समझाने और अभियानों का लाभ बताने की बजाए उन्हें ज़बरदस्ती कर, डराकर, धमकाकर, सज़ा देकर अभियानों का हिस्सा बनाया जा रहा है।

स्वच्छ भारत अभियान गाँधी जी की विचारधारा से प्रेणित है, क्या इसी तरह का भारत चाहते थे गाँधी? जहाँ सरकार तानशाही तरीके से कार्य करे और देश के लोकतंत्र का मज़ाक उड़ाए।

Courtesy: boltahindustan.

Categories: India

Related Articles