जल्द ही BJP के रंग में रंग जाएगा NDTV चैनल, BJP चुनाव कैंपेन के सदस्य होंगे नए मालिक!

जल्द ही BJP के रंग में रंग जाएगा NDTV चैनल, BJP चुनाव कैंपेन के सदस्य होंगे नए मालिक!

नई दिल्ली। टीवी चैनल एनडीटीवी खुद को देश का एकमात्र सच्चाई दिखाने वाला चैनल बताता रहा है। पिछले कई समय से देखा भी गया है कि एनडीटीवी ने ऐसी कई खबरें दिखाई हैं जो सराहनीय हैं। बाकी लगभग सारे चैनलों पर मोदी सरकार का सहयोगी चैनल होने का आरोप लगता रहा है लेकिन अब लगता है एनडीटीवी भी इससे अछूता नहीं रहेगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भारतीय जनता पार्टी के साल 2014 के चुनाव प्रचार की कोर टीम में शामिल रहे अजय सिंह एनडीटीवी के नए मालिक बनने जा रहे हैं। अजय सिंह स्पाइसजेट के सह-संस्थापक और मालिक हैं और वह अब एनडीटीवी के सबसे बड़े शेयर धारक बनने जा रहे हैं। इसकी पुष्टि एनडीटीवी ने भी कर दी है।

एक मीडिया संवाददाता ने जब एनडीटीवी के सूत्र से पूछा कि क्या चैनल स्पाइसजेट के अजय सिंह को बेचा जा चुका है? तो जवाब मिला, “हाँ, सौदा पक्का हो चुका है और संपादकीय अधिकार के साथ चैनल का नियंत्रण अजय सिंह के हाथ में होगा।”

आपको बता दें कि सीबीआई एनडीटीवी के प्रमोटरों प्रणय रॉय, राधिका रॉय और प्रमोटर संस्था आरआरपीआर होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड की वित्तीय लेन-देन के एक मामले में जांच कर रही है। इसी साल पांच जून को सीबीआई ने रॉय दंपति के निवास और दफ्तर पर कथित तौर पर बैंक लोन न चुकाने से जुड़े मामले में छापा मारा था। एनडीटीवी ने छापे के बाद जारी बयान में सभी आरोपों को बेबुनियाद बताया था।

मीडिया के सूत्रों की मानें तो अजय सिंह के पास एनडीटीवी के करीब 40 प्रतिशत शेयर होंगे। प्रणय रॉय और राधिका रॉय के पास करीब 20 प्रतिशत शेयर होंगे। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के जून 2017 तक के आंकड़ों के अनुसार एनडीटीवी में प्रमोटरों के पास 61.45 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं 38.55 प्रतिशत हिस्सेदारी सार्वजनिक शेयरधारकों के पास है। सूत्रों के अनुसार अजय सिंह एनडीटीवी का 400 करोड़ रुपये का कर्ज भी वहन करेंगे। कुल सौदा करीब 600 करोड़ रुपये में हुआ बताया जा रहा है। सौदे में करीब 100 करोड़ तक नकद रॉय दंपति को मिल सकता है।

नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार के दौरान “अबकी बार मोदी सरकार” जुमले का श्रेय अजय सिंह को दिया जाता है। वो अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान प्रमोद महाजन के ओएसडी रह चुके हैं। उस दौरान उन्होंने डीडी स्पोर्ट्स और डीडी न्यूज को लॉन्च करने में प्रमुख भूमिका निभायी थी। अजय सिंह साल 1996 में दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) के बोर्ड में रहे थे। उन्होंने डीटीसी के कायाकल्प की योजना बनाई थी। उनके कार्यकाल में डीटीसी बसों की संख्या 300 से 6000 हो गई थी। दिल्ली के सेंट कोलंबा से पढ़े अजय सिंह आईआईटी दिल्ली से बीटेक हैं। उन्होंने कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है और दिल्ली विश्वविद्यालय से कानून की भी पढ़ाई की है।

 

Courtesy: nationaldastak

Categories: India

Related Articles