डेरा हिंसा: विपासना-हनीप्रीत को आमने-सामने बिठा पूछताछ, आज खत्म हो रही हनीप्रीत की रिमांड

डेरा हिंसा: विपासना-हनीप्रीत को आमने-सामने बिठा पूछताछ, आज खत्म हो रही हनीप्रीत की रिमांड

चंडीगढ़
डेरा सच्चा सौदा के चीफ गुरमीत राम रहीम की विश्वासपात्र हनीप्रीत इंसां की तीन दिनों की रिमांड शुक्रवार को खत्म हो रही है। हनीप्रीत को शुक्रवार को पंचकूला कोर्ट में पेश किया जाएगा। कोर्ट से रिमांड बढ़ाने के लिए पुलिस की तरफ से क्या नए साक्ष्य और तर्क दिए जाएंगे यह अहम है। इस बीच डेरा की चेयरपर्सन विपासना भी पंचकूला के सेक्टर 23 थाने पहुंच चुकी हैं। हनीप्रीत और विपासना दोनों से पुलिस पूछताछ कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि विपासना को सामने देख हनीप्रीत जोर-जोर से रोने लगीं। पंचकूला पुलिस दोनों को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ कर रही है। बता दें कि पंचकूला पुलिस ने इससे पहले इसी हफ्ते दो बार विपासना को नोटिस भेजा था, लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया। माना जा रहा था कि शुक्रवार को अगर वह कोर्ट नहीं पहुंचती हैं तो उनकी मुश्किलें और बढ़ जाएंगी।

गुरमीत राम रहीम को अदालत में दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकूला और आसपास के इलाकों में हिंसा भड़क उठी थी। इस हिंसा में 30 से अधिक लोगों की जान चली गई थी और जानमाल का काफी नुकसान हुआ था। इसी मामले में पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख हनीप्रीत को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद अदालत ने हनीप्रीत को छह दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया था। यह रिमांड खत्म होने पर पुलिस को हनीप्रीत को दूसरी बार तीन दिनों के लिए फिर रिमांड मिली थी।


इस दौरान पुलिस हनीप्रीत को कई जगहों पर लेकर पहुंची और पूछताछ के दौरान मिली जानकारियों से कई अहम कड़ियों को जोड़ने की कोशिश की। सूत्रों के मुताबिक एसआईटी, हनीप्रीत और उसकी करीबी सुखदीप कौर को बुधवार को बठिंडा के जंगी राणा नामक गांव में लेकर पहुंची थी। इसके बावजूद पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस को हनीप्रीत का मोबाइल नहीं मिल पाया। इसके बाद एसआईटी राजस्थान के हनुमानगढ़ के अलावा बीकानेर की तरफ भी गई।

आदित्य की तलाश में है पुलिस
पुलिस के सामने चुनौती फरार चल रहे डॉ. आदित्य इंसां और पवन इंसां पर शिकंजा कसने की है। आदित्य इंसां 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा के दिन से ही फरार है। इसके साथ ही यदि वह 30 अक्टूबर तक पुलिस के हाथ नहीं आता तो उसे भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। पुलिस को इस बात का यकीन है कि दंगों पर अगर कोई सबसे ज्यादा खुलासे कर सकता है तो वह आदित्य इंसां ही है। 

पुलिस सूत्रों का दावा है कि पंचकूला दंगों में हनीप्रीत भी साजिशकर्ताओं में शामिल है। हनीप्रीत को उसकी साथी सुखदीप कौर के साथ 3 अक्टूबर को जीरकपुर-पटियालरोड से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद उसे 4 अक्टूबर को कोर्ट में पेश किया गया था।

 Courtesy: NBT
Categories: India