गृहमंत्री राजनाथ सिंह को ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ देने से मुकर गए पुलिसकर्मी

गृहमंत्री राजनाथ सिंह को ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ देने से मुकर गए पुलिसकर्मी

जोधपुर। जहां एक तरफ पीएम मोदी और भाजपा के लोग सार्वजनिक मंचों से अपनी सरकार का खूब बखान करते हैं वहीं दूसरी तरफ राजस्थान में सैलरी में हो रही कटौती से नाराज पुलिसकर्मियों ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सामने सरकार के कामकाज और विकास की पोल खोलकर रख दी। दरअसल राजस्थान की पुलिस लगातार हो रही वेतन कटौती के चलते आंदोलन पर उतर आई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, जोधपुर में आईबी ट्रेनिंग सेंटर के उद्घाटन कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे गृहमंत्री को यहां गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाना था लेकिन जो 8 पुलिसकर्मी गार्ड ऑफ ऑनर देने वाले थे वो छुट्टी पर चले गए। इसके बाद दूसरे जवानों को बुलाकर गृहमंत्री को सलामी दिलवाई गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, वेतनमान में कटौती को लेकर पुलिस के जवानों में भारी रोष व्याप्त है, ऐसे में 9 अक्टूबर से ही मैस का बहिष्कार कर रहे पुलिसकर्मियों ने पुलिस विभाग और सरकार को आंदोलन की चेतावनी दी थी, जिसके बाद सोमवार को बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी हड़ताल पर चले गए।

ऐन दीपावली से पहले हुए इस आंदोलन से सरकार की परेशानी बढ़ गई है, क्योंकि दीपावली पर सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस के अतिरिक्त जाब्ते का बंदोबस्त किया जाता है। आंदोलन के तहत सीकर में तो एक पुलिस कांस्टेबल वेतन काटे जाने के विरोध में टंकी पर जा चढ़ा। अन्य पुलिसकर्मियों द्वारा समझाइश के बाद वो नीचे आया। पुलिस कांस्टेबल ने नीचे आने के बाद अन्य पुलिसकर्मियों से आंदोलन में शामिल होने की अपील की। अलग अलग संभागों में पुलिसकर्मी कार्य बहिष्कार करते हुए जिला कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करने पहुंचे।

Courtesy: nationaldastak.

Categories: India

Related Articles